ऐसा क्या हुआ कि छात्र नेताओं ने सांसद निवास के सामने कर दिया हंगामा, पहुंची पुलिस, हुई झूमाझटकी

पुलिस ने 102 छात्र व छात्राओं पर 151 के तहत दर्ज किया मामला 

By: Shiv Singh

Published: 22 Aug 2017, 08:18 PM IST

कोरबा. केएन कॉलेज मे कैंटीन व अन्य अव्यवस्थाओं को लेकर जोगी कांग्रेस के छात्र संगठन से जुड़े छात्र नेताओं व छात्रों ने कॉलेज प्रशासन समिति के अध्यक्ष व सांसद बंशीलाल महतो के निवास के समीप जमकर हंगामा किया। छोटे से मुद्दे के लिए इस कदर हुड़दंग मचाए जाने को लेकर बुद्धिजीवी वर्ग जहां इसकी आलोचना कर रहे हैं, तो वहीं पुलिस ने भी 82 छात्रों व 20 छात्राओं सहित कुल १२० पर धारा १५१ के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस की ओर से और भी कड़ी कार्रवाई के संकेत मिले हैं।

केएन कॉलेज मे कैंटिन, कक्षा में ब्लैक बोर्ड, प्रभारी के स्थान पर स्थायी प्राचार्य, शिक्षकों की नियुक्ति जैसी मांगो को लेकर जोगी कांग्रेस की छात्र इकाई ने जिलाध्यक्ष दीपक वर्मा की अगुवाई में मिर्जा आसिफ़ बेग, मोहशीन मेमन, यश लाम्बा, आमिर मिर्ज़ा, पंकज महंत, प्रदीप पटेल, रवि उपाध्याय, मयंक पांडेय, सुभाष विश्वकर्मा, गौरव अरोरा, संजय राठौर आदि की उपस्थिति में सांसद निवास का घेराव किया। इस दौरान सांसद के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई। छात्रों द्वारा सांसद के विरोध आपत्तीजनक टिप्प्णी भी की गई। जिसे लेकर माहौल गरमा गया। बात पुलिस से धक्कामुक्की तक तक जा पहुंची। छोटे से आंदोलन से शुरू हुई बात अंत में संवेदनशील हो गई। आंदोनल के दौरान सीतामणी में जोगी कांग्रेस के प्रदेश सचिव शिव अग्रवाल व पनव अग्रवाल भी मौजूद थे।

एडीशनल एसपी से भी हुज्जतबाजी-  मौके पर एडीशन एसपी तारकेश्वर पटेल भी परिस्थतियों को संभालने के लिए मौजूद थे। नारेबाजी और प्रदर्शन के दौरान छात्र इतने उग्र हो गए कि उन्होंने एडिशन एसपी से भी धक्कमुक्की कर दी। जिसके बाद एएसपी का मिजाज भी गरमा गया। कुछ जवान भी उग्र हो गए।

सांसद नहीं आए सामने- यह पूरा हंगामा सांसद निवास के समीप हो रहा था। हंगामा तकरीबन दो घण्टे तक चलता रहा। लेकिन इस दौरान सांसद सामने नहीं आए। जबकि पूरा आंदोलन उनके विरोध मे ही किया जा रहा था। छात्रनेताओं की मांग थी कि सांसद से पहले वह कॉलेज प्रशासन समिति के अध्यक्ष हैं, इसलिए उनकी जवाबदेही बनती है। उन्हें सामने आना चाहिए।

टीआई रोकते रहे लाठी चलाने से- छात्रों को आंदोलन काफी उग्र हो गया था। जवानो से झूमाझटकी के बाद एडिशनल से धक्कमुक्की होने पर पुलिस के कुछ जवान भी काफी उग्र हो गए। इसके बाद एक-दो जवानों ने छात्रों पर लाठी बरसा दी। छात्रों पर लाठी बरसते देख टीआई विवेक शर्मा जवान की तरफ दौड़े और से लाठी मारने वाले जवान का खींचकर पीछे की ओर ढकेला। लेकिन तब तक एक दो छात्रों को लाठी की मार पड़ चुकी थी।

छात्रों को भी आई चोट- पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया इस दौरान कुछ छात्रों को भी चोट आई है। झूमाझटकी के बाद सभी छात्रों को पुलिस बस में भरकर सीनियर क्लब ले गई। जहां अस्थाई जेल बनाकर कुछ देर तक छात्रों को बंधक बनाकर रखा गया था। इसके बाद छात्रों को रिहा किया गया।

पुलिसकर्मियों का होगा मेडिकल- आंदोलन के बाद पुलिस ने छात्र नेताओं पर धारा १५१ के तहत मामला तो दर्ज किया है। लेकिन इसके बाद पुलिस की ओर से जानकारी मिली है कि आंदोलन के दौरान कुछ पुलिसकर्मियों को भी चोट आई है। यदि चोट की पुष्टि होती है तो और भी गंभीर मामला दर्ज किया जा सकता है।

सांसद निवास के समीप आंदोलन के दौरन छात्रों ने पुलिस से झूमाझटकी की। १०२ छात्र-छात्राओं पर धारा १५१ के तहत मामला दर्ज किया गया है। जवानों का मेडिकल कराया जा रहा है। जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
तारकेश्वर पटेल, एएसपी

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned