राज्य के कंट्रोल रूम का फोन भी नहीं उठाते बिजली विभाग के अफसर, रात भर कई क्षेत्रों में ब्लैक आउट

राज्य के कंट्रोल रूम का फोन भी नहीं उठाते बिजली विभाग के अफसर, रात भर कई क्षेत्रों में ब्लैक आउट

Vasudev Yadav | Publish: Jun, 19 2019 11:50:09 AM (IST) Korba, Korba, Chhattisgarh, India

शहर के तीनो में जोन में विद्युत वितरण व्यवस्था(Power distribution system) को बेहद बुरा हाल

कोरबा. बिजली की बदहाल व्यवस्था(Power bad system) अब जिलेवासियों की आदत में शुमार हो चुका है। गांव के साथ ही अब शहरी क्षेत्रों में रात-रात भर बिना किसी बड़ी प्राकृतिक आपदा के विद्युत काट दी जाती है। भीषण गर्मी(Scorching heat) में लोग हलाकान रहते हैं। लेकिन विभाग के अफसर समय रहते मरम्मत कार्य शुरू नहीं करते। कई बार फॉल्ट ढूंढने में ही काफी समय लग जाता है। जिसके कारण विद्युत वितरण व्यवस्था(Power distribution system) लंबे समय के लिए बाधित रहती है।

जिले की विद्युत वितरण(Power distribution) व्यवस्था अब पूरी तरह से बेपटरी हो चुकी है। हल्की से हवा चलने पर भी कई क्षेत्र अंधेरे में डूब जाते हैं। जिसके कारण लोगों को अंधेरे में रात गुजारनी पड़ती है। जिले के लगभग तीनो शहरी जोन दर्री(Darri), तुलसीनगर(Tulsinagar) व पाड़ीमार(padimar) में नियमित अंतरालों पर बिजली का आना-जाना लगा रहता है। दिन भर बिजली आती-जाती रहती है।

कंट्रोल रूम का नंबर भी आउट ऑफ कवरेज
बिजली बंद(power off) होते ही अफसरों के साथ ही कंट्रोल रूम(Control room) के सभी फोन नंबर आउट ऑफ कवरेज हो जाते हैं। जनता को यह भी नहीं बताया जाता कि कहां क्या परेशानी(Trouble) है? विद्युत व्यवस्था पुन: कब बहाल होगी? बिजली गुल(Power gul) होन के बाद कोई भी संतोषप्रद जवाब नहीं मिलता। यदि गलती से कंट्रोल रूम का फोन नंबर रिसीव हो भी जाता है, तो बताया जाता कि अमले की कमी है, 50 से ज्यादा शिकायत है। काम चल रहा है। कहां क्या काम चल रहा हे, यह नहीं बताया जाता।

राज्य के कंट्रोल रूम के कर्मी भी परेशान
विद्युत वितरण विभाग(Power distribution department) की शिकायतों को केन्द्रीयकृत करने के लिए विभाग ने टॉलफ्री नंबर(Toll Free Number) 1912 को जारी किया है। इस नंबर दर्री जोन अंतर्गत रविवार की शाम को शिकायत दर्ज कराई गई थी। जिसका शिकायत क्रमांक(Complaint number) 6002434086 है। जिसके बाद सोमवार की शाम लगभग पांच बजे से बिजली(Lightning) गुल हो गई। पूरी रात बिजली गुल ही रही। जब रात के करीब एक बजे 1912 में कॉल किया गया तो, बताया गया कि यह शिकायत अब भी जीवित है। लेकिन जिला स्तर पर या जोन स्तर के कर्मचारी व अफसर(Employees and officers) फोन रिसीव नहीं करते। 1912 के कर्मचारी सुझाव दिया कि सुबह होते ही जोन कार्यालय जाकर जेई से जवाब मांगे, क्योंकि हर दिन इस तरह की फॉल्ट स्वीकार्य नहीं है। जिला स्तर पर अफसर इतने लापरवाह हैं कि हमारे फोन भी रिसीव नहीं करते।

वर्जन

फॉल्ट आने पर जानकारी दी जाती है। रात भर बिजली नहीं होने की जानकारी नहीं है। इसे दिखावाया जा रहा है, बिजली व्यवस्था को सुचारू करने का प्रयास है।
पीवी सजीव, एसई, सीएसपीडीसीएल, कोरबा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned