scriptThe smugglers' evil eye on the green trees unable to preserve the new | नए पौधे संजो कर नहीं रख पा रहे हरेभरे पेड़ों पर तस्करों की कुदृष्टि | Patrika News

नए पौधे संजो कर नहीं रख पा रहे हरेभरे पेड़ों पर तस्करों की कुदृष्टि

कोरबा. 2019 की तुलना में 2021 में कोरबा जिले में वन क्षेत्र में सिर्फ ७. २३ वर्ग किलोमीटर का ही इजाफा हुआ है। इंडियन स्टेट ऑफ फारेस्ट 2021 की ताजा रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। जबकि बीते पांच वर्षों में सिर्फ वन विकास निगम ने ढाई लाख पौधे, वन विभाग ने एक लाख और अन्य विभागों के माध्यम से सवा लाख पौधे लगाने का दावा किया जा रहा है। इतनी अधिक संख्या में पौधे लगाने के बाद बढऩे से पहले ही सूख जा रहे हैं।

कोरबा

Updated: June 05, 2022 11:19:27 am

जिले में जगह पौधरोपण के सिर्फ बोर्ड ही शेष रह गए हैं। हर साल जोरों-शोरों से वन विभाग द्वारा पौधे लगाए जाते हैं। यहां तक क्षतिपूर्ति वृक्षारोपण के नाम पर भी हर साल पौधे लगाए जाते हैं। ताकि वन क्षेत्र में किसी भी तरह से नुकसान न हो, लेकिन स्थिति इससे अलग है। पुराने पेड़ धड़ल्ले से काटे जा रहे हैं तो वहीं नए पौधे भी बड़े होने से पहले सूख जा रहे हैं। इस वजह से जंगल का दायरा उस स्तर पर नहीं बढ़ पा रहा है जिस स्तर पर अधिकारी दावे कर रहे हैं।

नए पौधे संजो कर नहीं रख पा रहे हरेभरे पेड़ों पर तस्करों की कुदृष्टि
नए पौधे संजो कर नहीं रख पा रहे हरेभरे पेड़ों पर तस्करों की कुदृष्टि

इधर जब भी जंगलों में हाथियों की आमदरफ्त की खबर फैली है। उसी अवधि में सबसे अधिक पेड़ों की अवैध कटाई के मामले सामने आए हैं। दो साल में कोरबा व कटघोरा वनमंडल में हाथियों के होने की वजह से ग्रामीणों को जंगल में जाने की मनाही थी। उसी दौरान 49 लाख की लकडिय़ों को तस्कर काट कर ले गए। 1590 मामले सामने आ चुके हैं।

हर साल लकडिय़ों के अवैध कटाई के मामले सामने आते रहते हैं। कई बार वन विभाग की टीमों ने जंगल में दबिश देकर लकड़ी बरामद किया है, तो कई बार घरों में छिपाकर रखे गए लकड़ी जप्त किए गए हैं, लेकिन अब तक बड़ा गिरोह ना तो कोरबा वनमंडल के हाथ लगा है ना ही कटघोरा वनमंडल के हाथ, लेकिन इन दोनों ही वनमंडल में महंगे लकडिय़ों की कटाई जारी है।

दोनों ही वनमंडल में अब तक अवैध पेड़ कटाई के 1590 मामले सामने आ चुके हैं। जिन वृक्षों की कटाई हुई है अगर उनकी कीमत पर गौर किया जाए तो खुद वन विभाग दावा कर रहा है कि 49 लाख की लकड़ी अब तक पार हो चुकी है। हैरत वाली बात है कि ये सब तब हुआ जब जंगल में ग्रामीणों को जाने की पूरी तरह से मनाही रहती है। ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि क्या हाथियों के होने का हल्ला कर अवैध कटाई कराई जा रही है।

साढ़े 35 हजार पेड़ कट गए, लेकिन वन अमले को भनक तक नहीं लगी
दोनों ही वनमंडल में कुल साढ़े 35 हजार से ज्यादा पेड़ों की कटाई हो चुकी है, लेकिन वन अमले को भनक तक नहीं लगी। कटघोरा वनमंडल के एतमानगर, केंदई, पाली, पसान, जटगा रेंज में सबसे अधिक पेड़ों की कटाई हुई है। जबकि कोरबा रेंज में कुदमुरा, करतला, लेमरू रेंज में पेड़ों की कटाई हुई है। इतने अधिक संख्या में पेड़ों की कटाई हो गई, लेकिन गिरोह नहीं पकड़ा गया। वन विभाग ने गंभीर होकर कभी मामले की जांच नहीं की।


1590 मामलों में 959 में अब तक कार्रवाई लंबित
दो साल में इन दोनों ही वनमंडलों में अवैध कटाई के कुल 1590 मामलों में 959 मामलों में कार्रवाई नहीं हो सकी है। पीओआर दर्ज होने के बाद जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई में देरी हो रही है। सबसे अधिक लंबित मामले कटघोरा में है। रेंज स्तर के अधिकारी कार्रवाई में तेजी नहीं ला पा रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

IND vs ZIM: शिखर धवन और शुभमन गिल की शानदार बल्लेबाजी, भारत ने जिम्बाब्वे को 10 विकेट से हरायाकौन हैं IAS राजेश वर्मा, जिन्हें किया गया राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का सचिव नियुक्त?पटना मेट्रो रेल के भूमिगत कार्य का CM नीतीश कुमार ने किया उद्घाटन, तेजस्वी यादव भी रहे मौजूदMaharashtra Suspected Boat: रायगढ़ में मिली संदिग्ध नाव और 3 AK-47 किसकी? देवेंद्र फडणवीस ने किया बड़ा खुलासाBihar News: राजधानी पटना में फिर गोलीबारी, लूटपाट का विरोध करने पर फौजी की गोली मारकर हत्यादिल्ली हाईकोर्ट ने फ्लाइट में कृपाण की अनुमति देने पर केंद्र और DGCA को जारी किया नोटिसSSC Scam case: पार्थ चटर्जी, अर्पिता मुखर्जी 14 दिन की न्यायिक हिरासत पर भेजे गए, 31 अगस्त को अगली पेशीRohingya Row: अनुराग ठाकुर का AAP पर आरोप, राष्ट्र सुरक्षा से समझौता कर रही दिल्ली सरकार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.