scriptThe target of mining 182 million tonnes in the new financial year | नए वित्तीय वर्ष में 182 मिलियन टन खनन का लक्ष्य, गेवरा, दीपका और कुसमुंडा से 135 एमटी निकालेंगे कोयला | Patrika News

नए वित्तीय वर्ष में 182 मिलियन टन खनन का लक्ष्य, गेवरा, दीपका और कुसमुंडा से 135 एमटी निकालेंगे कोयला

Korba. नए वित्तीय वर्ष में एसईसीएल ने अपनी खानों से 182 मिलियन टन कोयला खनन का महात्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है। लक्ष्य तक पहुंचने के लिए कंपनी गेवरा, दीपका और कुसमुंडा पर सबसे अधिक जोर देगी।

कोरबा

Updated: April 02, 2022 11:57:05 am

वित्तीय वर्ष की शुरूवात के पहले दिन एसईसीएल के सीएमडी डॉ. प्रेम सागर मिश्रा ने कंपनी मुख्यालय बिलासपुर में श्रमिक संगठन प्रतिनिधित्व संचालन समिति के साथ भी बैठक की। निर्धारित लक्ष्य तक पहुंचने के लिए सभी से सहयोग की अपेक्षा की। कंपनी की ओर से बताया गया है कि इस महत्वपूर्ण लक्ष्य में गेवरा, दीपका तथा कुसमुंडा मेगा प्रोजेक्ट की भूमिका महत्पूर्ण होगी। तीनों परियोजना से एसईसीएल के कुल उत्पादन का लगभग दो तिहाई हिस्सा जुटाने का लक्ष्य है। गेवरा को 52 मिलियन टन, दीपका को 38 मिलियन टन, कुसमुंडा 45 मिलियन टन कोयला खनन का लक्ष्य दिया गया है। मांड-रायगढ़ कोलफील्ड्स की रायगढ़ एरिया को 15.5 मिलियन टन का उत्पादन लक्ष्य दिया गया है।

नए वित्तीय वर्ष में 182 मिलियन टन खनन का लक्ष्य, गेवरा, दीपका और कुसमुंडा से 135 एमटी निकालेंगे कोयला
गेवरा खदान में कोयला खनन

एसईसीएल के पास 67 कोयला खदानें
एसईसीएल ने लगभग 21 खुली खदानों से 169 मिलियन टन तथा लगभग 46 भूमिगत खदानों से 13 मिलियन टन वार्षिक उत्पादन की योजना बनाई है।


अंबिका खदानों को चालू की योजना
कंपनी ने वित्तीय वर्ष के दौरान 3 नई परियोजनाओं के विकास पर जोर देगी। इसमें रामपुर बटुरा ओपनकास्ट, कोरबा जिले में पाली के पास स्थित अम्बिका ओपनकास्ट तथा केतकी अंडर ग्राउंड खदान शामिल है।

5200 करोड़ रुपए निवेश की योजना
वित्तीय वर्ष में इन्फ्रास्ट्रक्चर सहित विभिन्न क्षेत्रों में पंूजीगत निवेश के लिए 5200 करोड़ का केपिटल बजट अनुमोदित किया गया है। इसमें रेल कॉरीडोर परियोजनाओं के विकास के लिए 1800 करोड़ का पूंजीगत व्यय शामिल है। इसमें कोरबा जिले में स्थित कंपनी की तीन मेगा प्रोजेक्ट में फस्ट माइल कनेक्टिविटी (एफएमसी) परियोजना को विकसित करने की योजना है। ताकि रैपिड लोडिंग सिस्टम तथा साइलों के माध्यम से कोयला लोडिंग करके बाहर भेजा जा सके।

लक्ष्य से पिछड़ गई कंपनी
वित्तीय वर्ष २०२१- २२ में एसईसीएल ने कोयला खदानों से १७२ मिलियन टन खनन का लक्ष्य निर्धारित किया था। लेकिन ३१ मार्च, २०२२ तक कंपनी लगभग १४२ मिलियन टन कोयला खनन कर सकी है। लगातार दो वित्तीय वर्ष से कंपनी लक्ष्य के अनुसार कोयला खनन नहीं कर रही है।

155 मिलियन टन कोयले का डिस्पेच
31 मार्च 2022 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष में कंपनी ने कोरोना काल की चुनौतियों के बीच 155.71 मिलियन टन कोयला उपभोक्ताओं को प्रेषित किया है। यह डिस्पेच पिछले वित्तीय वर्ष से लगभग 17 मिलियन टन (लगभग 12 प्रतिशत वृद्धि) अधिक है। इस वर्ष पावर सेक्टर 129.29 मिलियन टन कोयला उपलब्ध कराया गया जो कि ऐतिहासिक है। गत वित्तीय वर्ष अप्रत्याशित मानसून तथा कोरोना की दूसरी लहर की चुनौतियों के बीच भी कम्पनी 142.51 मिलियन टन उत्पादन दर्ज करने में सफल रही थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

टाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाआ गया प्लास्टिक कचरे का सफाया करने वाला नया एंजाइमWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हराया‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’गुजरात: निवेशकों से डेढ अरब की धोखाधड़ी कर फरार हुआ कम्पनी मालिक पत्नी सहित गिरफ्तारअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.