गजब : डेढ साल पहले बिछाया तार लेकिन बिजली पहुंची नहीं अब आ गया बिल

डेढ़ साल पहले प्रशासन ने लेमरू तक बिजली पहुंचायी तो ग्रामीणों के चेहरे खिल गए। विकास की रफ्तार तेज होने की उम्मीद बड़ी।

By: Rajkumar Shah

Published: 10 Nov 2017, 10:50 AM IST

कोरबा . डेढ़ साल पहले प्रशासन ने लेमरू तक बिजली पहुंचायी तो ग्रामीणों के चेहरे खिल गए। विकास की रफ्तार तेज होने की उम्मीद बड़ी। लेकिन लेमरू से करीब पांच किलोमीटर की दूरी पर गांव अड़ेतरा में रहने वाले जगदेव परेशान हैं।

जगदेव कहते हैं कि करीब दो साल पहले गांव तक बिजली पहुंचाने के लिए खंभा लगा। तार बिछाया गया। डेढ़ साल पहले स्वतंत्रा दिवस पर गांव को रोशन किया गया। लेकिन उसमें अड़ेतरा नहीं था। बाद में जगदेव को पता चला कि लेमरू से अड़ेतरा तक की लाइन बिजली विभाग ने तकनीकी गड़बड़ी का कारण चालू नहीं किया है। डेढ़ साल से अड़ेतरा के लोग गांव के बिजली से रोशन होने की बांट जोह रहे हैं।

बिजली अभी नहीं आई है, लेकिन नवंबर के पहले हफ्ते में ग्रामीणों तक बिल पहुंच गया है। ग्रामीणों तक 500 रुपए का बिल आया है। जगदेव हैरान है कि घर में बिजली आई नहीं और बिल आ गया है।


गांव में रहने वाली वाली 55 साल की बुजुर्ग चमरीन भी परेशान हैं। उनका कहना है कि गांव में बिजली पहुंची नहीं और बिजली विभाग ने वाहवाही लूटने के लिए झूठा ढिंढोरा पीट दिया। अब तो बिना बल्व जलाए बिल भी आने लगा है। गांव में बिजली नहीं होने का पीड़ा भी महिला बताती हैं। उन्होंने कहा कि बिजली नहीं होने से सांप बिच्छू का डर बना रहता है। लेमरू तक लाइन है।

वहां बल्व जलता है, लेकिन अड़ेतरा तक लाइन चार्ज नहीं है। इससे गांव में बिजली नहीं जलती है। सौर लाइट पहले कुछ घरों को दिया गया था। वह मशीन भी खराब हो गई है।


त्रुटि सुधार की बात- अड़ेतरा तक अजगर बहार लेमरू के रास्ते बिजली का तार बिछाया गया है। करीब 40 किलोमीटर लंबी इस लाइन पर एक भी सब स्टेशन नहीं है। इससे बिजली चार्ज करने में विभाग को परेशानी होती है। लाइन में बार बार गड़बड़ी आती है। विभाग का कहना है कि इस समस्या से निपटने के लिए अजगर बहार में 33/11 का सब स्टेशन बनाया जा रहा है। इसके चालू होने बिजली की स्थिति सुधर जाएगी। विभाग बिल की त्रुटियों को दूर करने की बात कह रहा है।

Rajkumar Shah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned