एजूकेशन हब के लिए हॉस्टल अधीक्षक के तीन पद मिले, लेकिन बच्चों को पढाने वाले शिक्षकों की नियुक्ति में फंसा पेंच

शिक्षकोंं के 28 पद के लिए प्रशासन ने मुख्यालय को स्वीकृति के लिए भेजा

By: Shiv Singh

Published: 24 May 2018, 07:29 PM IST

कोरबा . लगभग 125 करोड़ रूपए की लागत से स्याहीमुड़ी मेें एजूकेशन हब का निर्माण पूर्णता की ओर है। शासन से प्रशासन को यहां के हॉस्टल के तीन अधीक्षक के तीन पद स्वीकृत हो गए हैं लेकिन शिक्षकों के सेटअप को लेकर पेंच फंस गया है।

शिक्षक के कुल 28 पद के लिए प्रशासन ने मुख्यालय से स्वीकृति मांगी है। पर अब तक इसे हरी झंडी नहीं मिली है। ऐसे में संचालन शुरू हो पाना मुश्किल नजर आ रहा है।


डेढ़ साल से एजूकेशन हब का निर्माण चल रहा है। लेकिन इसके संचालन को लेकर शुरूआती दौर में की गई देरी अब प्रशासन के लिए सिरदर्द साबित होती जा रही है। इतने बड़े भवन का संचालन करने के लिए कम से कम 40 का सेटअप चाहिए। जिसमें तीन हॉस्टल अधीक्षक, 28 शिक्षक व शेष कार्यायलीन स्टॉफ की जरूरत है।

हॉस्टल अधीक्षक के लिए स्थानीय स्तर पर छात्रावासों के तीन अधीक्षकों को एजूकेशन हब के हॉस्टल में लाने की तैयारी हो चुकी है। वहीं कार्यायलीन स्टॉफ के लिए कलेक्टर दर पर कर्मचारियों को रखने की योजना बनी है। लेकिन शिक्षकों के सेटअप के लिए मुख्यालय स्तर पर अनुमति लेनी है। शिक्षकों के 28 पद के लिए विभाग को अब तक मुख्यालय से हरी झंडी नहीं मिली है।

भवन बनने के बाद ले रहे सेटअप की स्वीकृति
प्रशासन द्वारा एजूकेशन हब के लिए करोड़ों रूपए के भवन बनने के बाद अब जाकर सेटअप के लिए स्वीकृति मांगी जा रही है। जबकि योजना के क्रियान्वयन से पहले ही सेटअप की अनुमति लेकर शिक्षकों की व्यवस्था कर लेनी चाहिए थी। चूंकि चुनावी वर्ष है और शासन के वित्त विभाग ने नई भर्ती पर पूरी तरह से रोक लगा रखी है। ऐसे में इतने अधिक संख्या में भर्ती मुश्किल नजर आ रही है।


सीपेट की कोई सुगबुगाहट नहीं
पिछले साल प्रशासन द्वारा इसी एजूकेशन हब के भवन मेंं सीपेट के संचालन की तैयारी की गई थी। बकायदा सीपेट ने रायपुर में इसकी घोषणा भी की थी। कयास लगाए जा रहे थे कि नये सत्र से सीपेट प्लास्टिक इंजीनियरिंग के किसी ब्रांच की शुरूआत कर सकती थी लेकिन अब तक इसकी कोई सुगबुगाहट नजर नहीं आ रही है।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned