दो ऑटो चालकों ने युवती के साथ की छेडख़ानी, जुर्म दर्ज, अब होगी कार्रवाई

चाइल्ड लाइन ने सर्टिफिकेट के आधार पर पीडि़त लड़की को नाबालिग बताया है।

By: Vasudev Yadav

Published: 11 Dec 2017, 11:41 AM IST

कोरबा . छेडख़ानी के आरोप में दो ऑटो ड्राइवरों की गिरफ्तारी के बाद विवाद की स्थिति बन गई है। चाइल्ड लाइन ने सर्टिफिकेट के आधार पर पीडि़त लड़की को नाबालिग बताया है। वहीं आधार कार्ड पर अंकित तिथि के अनुसार पीडि़त लड़की के बालिग होने की बात परिवार ने पुलिस को बताई है।

घटना शनिवार शाम की बताई जा रही है। पुलिस के अनुसार निहारिका क्षेत्र में एक लड़की से हो रही छेडख़ानी को देख कर चाइल्ड लाइन का कर्मचारी गोपाल यादव पहुंचा। उसने घटना की शिकायत रामपुर चौकी में दर्ज कराई। पुलिस ने शिकायत को सही मानकर दो आटो चालकों के खिलाफ अनुसूचित जाति जनजाति वर्ग की किशोरी से छेडख़ानी का केस दर्ज किया। लड़की को बालिका गृह भेज दिया। इस बीच रात करीब नौ बजे पुलिस के बुलावे पर लड़की के परिजन रामपुर चौकी पहुंचे।

Read More : कुछ साल बाद यहां हाइटेक तकनीक से होगा कोयला लोड, अधिक लाभ कमाने कंपनी कर रही इस तरह से तैयारी, पढि़ए खबर...

पुलिस ने लड़की को बालिका गृह भेजने की सूचना देकर लौटा दिया। छेडख़ानी के आरोप में आटो चालक संजू सिंह और रंजिश सिंह को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। यहां से जेल भेज दिया गया। इधर मामले में उस समय नया मोड़ आ गया, जब लड़की के परिजनों ने पुलिस के समक्ष आधार कार्ड प्रस्तुत करते हुए बालिग होने की जानकारी दी। यह भी बताया कि लड़की मानसिक तौर पर कमजोर है। यह बात सुनते ही अजाक डीएसपी रितेश श्रीवास्तव नाराज हो गए।

उन्होंने चाइल्ड लाइन के स्टॉफ की जमकर खबर ली। यह पूछा की किस आधार पर लड़की के नाबालिग होने का निर्धारण किया गया? मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएसपी ने बालिका गृह पहुंचकर पीडि़त का बयान दर्ज किया। बयान में पीडि़त लड़की ने क्या कहा? यह स्पष्ट नहीं हुआ है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned