पहली बार सीबीएसई परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाएं जांचने के लिए बनाए दो मूल्यांकन केन्द्र

केवी एनटीपीसी के साथ डीपीएस स्कूलों को बनाया गया केन्द्र

By: Vasudev Yadav

Published: 10 Apr 2019, 12:33 PM IST

कोरबा. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने निर्धारित अवधि में परिणाम जारी करने और बोर्ड की परीक्षाएं त्रुटिहीन करने के लिए इस वर्ष जिले में दो मूल्यांकन केन्द्र स्थापित किए हैं। केवी एनटीपीसी और डीपीएस एनटीपीसी को बोर्ड केन्द्र बनया है।
पिछले वर्ष ही सीबीएसई की तरफ से ऐसी जानकारी आई थी कि पिछले साल की तुलना में इस बार ज्यादा केंद्र बनाए जाएंगे। वहीं, बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि बोर्ड परीक्षाओं के लिए पंजीकरण कराने वाले छात्रों की संख्या कितनी है, इस पर यह निर्भर करेगा। 2018 की बोर्ड परीक्षा में देश भर में करीब 2200 परीक्षा मूल्यांकन केंद्र बनाए गए थे। वहीं, 50,000 से अधिक शिक्षकों को मूल्याकन के कार्य में लगाया गया था।
बोर्ड परीक्षाओं के परिणामों को त्रुटिहीन रखने और समय से परिणाम जारी करने के लिए सीबीएसई ने अपने संबद्ध सभी स्कूलों के प्रधानाचार्यो से 0 शिक्षकों और विद्यालय प्रमुखों का ब्योरा मागा था। केवी और डीपीएस संस्था के से भी यह जानकारी दिल्ली भेजी थी।

केवल १०वीं की उत्तरपुस्तिकाएं ही जचेंगी
इस वर्ष जिले में परीक्षा केन्द्रों की संख्या में भी इजाफा किया गया था। अब दो मूल्यांकन केन्द्र भी बना दिए गए हैं। पहली बार केन्द्र बनाए जाने के कारण केवल १०वीं कक्षा के कुछ ही विषयों के मूल्यांकन ही जिले होंगे। केवी एनटीपीसी को तीन जबकि डीपीएस को चार विषयों के मूल्यांकन की मान्यता मिली है। सीबीएसई के सूत्रों ने बताया कि मूल्यांकन के बाद अंकों की गणना में कोई गलती न हो, इसके लिए मूल्याकंन केंद्रों पर विशेष रूप से गणित और कंप्यूटर शिक्षकों को तैनात किया जाएगा। साथ ही हर उत्तर पुस्तिका को दो बार जांचने का प्रावधान करने की संभावना है। सीबीएसई के पास पूरी सूची आने के बाद मूल्यांकनकर्ताओं को इस साल भी प्रशिक्षण दिलाया जाएगा।

वर्जन
मूल्यांकन केन्द्र बनाए जाने की सूचना मिली है। केवी के साथ डीपीएस को भी सिर्फ १०वीं कक्षा के मूल्यांकन की मान्यता मिली है। बाकी जानकारी बाद में दी जाएगी।
डॉ ए नागमणी, प्राचार्य केवी एनटीपीसी

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned