scriptadministration | छत्तीसगढ़ का पहला वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र: बैकुंठपुर में 21 एकड़ बंजर भूमि में हरियाली, हर साल एक लाख औषधीय पौधे तैयार होंगे | Patrika News

छत्तीसगढ़ का पहला वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र: बैकुंठपुर में 21 एकड़ बंजर भूमि में हरियाली, हर साल एक लाख औषधीय पौधे तैयार होंगे


-औषधीय पौधों की मातृवाटिका, फलोद्यान के साथ ऑक्सीजोन के रूप में वन प्रदर्शन क्षेत्र तैयार होने लगा।

कोरीया

Updated: July 12, 2022 08:12:57 pm



बैकुंठपुर। कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग-43 के निकट ग्राम पंचायत आनी में 21 एकड़ वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र में हरियाली छाई है। जिसमें औषधीय पौधों की मातृवाटिका, फलोद्यान के साथ ऑक्सीजोन के रूप में वन प्रदर्शन क्षेत्र तैयार होने लगा है।
मुख्यमंत्री भूपेष बघेल की मंशा के अनुरूप एक नई पहल कर मुख्यमंत्री पौधरोपण योजना के तहत एक वर्ष पहले वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र बनाया गया है। पूरी तरह से बंजर पड़ी इस भूमि में घास का एक तिनका भी नहीं होता था। अब औषधीय महत्व के हजारों पौधों के साथ मिश्रित वन में होने वाले पौधों की हरियाली से आक्सीजोन बन रहा है। एक वर्ष पहले प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र में पहला पौधा लगाकर औपचारिक शुभारंभ किया था। जहां 21 एकड़ बंजर भूमि को प्रदेश के पहले वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र के रूप में विकसित किया गया है। इसमें फलदार पौधों की वाटिका के साथ इमारती व शोभनीय पौधों का विस्तारित वन क्षेत्र तैयार किया गया है। साथ ही 20 हजार से ज्यादा की संख्या में औषधीय महत्व के पौधों का रोपण अंतवर्तीय तरीके से किया गया है।

मातृवाटिका में २० प्रकार के औषधीय पौधे लगाए गए
मनरेगा, डीएमएफ मद सहित अन्य विभागीय योजनाओं से ग्राम पंचायत आनी में एक बड़े क्षेत्रफल को वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र का स्वरूप दिया गया है। जिसमें पशुओं के आश्रय स्थल के साथ चारागाह का विकास भी किया गया है। इसके लिए 5 एकड़ भूमि आरक्षित की गई है। साथ ही 10 एकड़ में फलोद्यान तैयार किया जा रहा है। जिसमें अच्छी उपज देने वाले आम, नींबू, कटहल, सीताफल, जामुन, लीची, अमरूद, आंवला आदि पौधों का रोपण किया गया है। वहीं 20 अलग-अलग तरह के औषधीय महत्व के पौधों की मातृवाटिका तैयार की गई है। जिसमें वन अजवाइन, शतावर, वनतुलसी, जंगली प्याज, जंगली लहसुन, पत्थरचटा, पत्थरचूर्ण, स्टीविया, एलोवेरा लगाए गए हैं। हर वर्ष लगभग 80 हजार से लेकर 1 लाख तक औषधीय पौधे मातृवाटिका से मिलेंगे।

प्रक्षेत्र में ४३ प्रकार के १० हजार पौधे से हरियाली छाई
जानकारी के अनुसार प्रदेश में मिलने वाली कुल 43 विभिन्न प्रजातियों के लगभग 10 हजार पौधे का रोपण किया गया है। मुख्य रूप से सागौन, शीशम, साल, बीजा, तिन्सा, बरगद, पीपल, हल्दू, खम्हार, नीलगिरी जैसे प्रजातियां शामिल हैं। साथ ही एक बड़े क्षेत्रफल में इमारती लकड़ी देने वाले प्रजातियों के पौधों की वाटिका तैयार हो रही है। प्रक्षेत्र के विस्तार व रखरखाव का कार्य की वन, कृषि विज्ञान केंद्र और उद्यान विभाग को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

कोरिया में यह अपने आप में अलग तरह का प्रयास है। इससे जिले को एक अलग पहचान मिलेगी। साथ ही वन प्रदर्शन क्षेत्र में जिले के वनों में मिलने वाले सभी प्रजाति के पौधों को तैयार किया गया है।
कुलदीप शर्मा, कलेक्टर कोरिया

छत्तीसगढ़ का पहला वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र: बैकुंठपुर में 21 एकड़ बंजर भूमि में हरियाली, हर साल एक लाख औषधीय पौधे तैयार होंगे
छत्तीसगढ़ का पहला वन प्रदर्शन प्रक्षेत्र: बैकुंठपुर में 21 एकड़ बंजर भूमि में हरियाली, हर साल एक लाख औषधीय पौधे तैयार होंगे

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

CBI Raid: दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया के घर पहुंची CBI की टीम, 20 ठिकानों पर चल रही छापेमारीDahi Handi Festival: मुंबई में दो साल बाद कृष्ण जन्माष्टमी की धूम, शहर के कई इलाकों में फोड़ी जाएगी दही हांडीमथुरा, वृंदावन समेत कई जगहों पर आज है जन्माष्टमी की धूम, जानें पूजा का शुभ मुहूर्त और विधिप्रधानमंत्री मोदी आज गोवा में ‘हर घर जल उत्सव’ को करेंगे संबोधितकर्नाटक की राजनीति: येडियूरप्पा के लिए भाजपा ने क्यों बदला अलिखित नियमJanmashtami 2022: वृंदावन के श्री बांके बिहारीजी मंदिर में होती है जन्माष्टमी की धूम, जानिए इस मंदिर से जुड़ी खास बातेंदिग्विजय सिंह का बड़ा बयान, बिल्डरों के साथ मिलकर कृषि कॉलेज की जमीन को बेच रहे अफसर-नेतापंजाब के अटारी बॉर्डर के पास दिखा ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद पाकिस्तान की तरफ लौटा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.