16 साल से बंद पड़ी खदान में कोयला निकालते गिरी चट्टान, दबकर महिला की दर्दनाक मौत

Coal mines accident: एसइसीएल-पुलिस व प्रशासन अवैध उत्खनन (Illegal mining) रोकने में नाकाम, एसइसीएल चिरमिरी कुरासिया ओसीएम (OCM) डंप क्षेत्र की घटना, कोयला उत्खनन कर खपाते हैं अवैध ईंट भ_ों में

By: rampravesh vishwakarma

Published: 24 Dec 2020, 09:50 PM IST

चिरमिरी. एसइसीएल चिरमिरी क्षेत्र की करीब 16 साल से बंद पड़ी ओसीएम खदान (Open cast mines) में चोरी-छिपे कोयला उत्खनन करते समय चट्टान धंसक गया। इसमें दबकर एक महिला की दर्दनाक मौत (Woman painful death) हो गई, जबकि अन्य लोग जान बचाकर वहां से भाग निकले। सूचना पर पुलिस की टीम व स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और महिला का शव बाहर निकाला गया।


कोयला नगरी चिरमिरी के कुरासिया ओसीएम डंप क्षेत्र में लगभग 16 वर्षों से कोयला खदान (Coal mines) बंद पड़ी थी। यहां गुरुवार की दोपहर टिकरापारा बड़ी बाजार निवासी यासमीन बानो पति यूसुफ कुरैशी 40 वर्ष समेत कई महिला पुरुष अवैध रूप से कोयला निकालने गए थे।

दोपहर 3.30 बजे कोयला निकालते समय अचानक चट्टान धसक गया। इससे यासमीन बानो दब गई। घटना के बाद अन्य लोग अपनी जान बचाकर भाग निकले और बस्ती में जाकर महिला के दबने की जानकारी दी। कोयले का चट्टान खिसकने से दबी महिला को निकालने में कई घंटे तक मशक्कत करनी पड़ा। (Coal mines accident)

16 साल से बंद पड़ी खदान में कोयला निकालते गिरी चट्टान, दबकर महिला की दर्दनाक मौत

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि महिला को आवाज देकर वापस बुलाया गया, लेकिन चट्टान तेज गति से गिरने से महिला नहीं निकल सकी और चट्टान के नीचे दब गई।

मामले की सूचना मिलने के बाद नगर पुलिस अधीक्षक पीपी सिंह पहुंचे और जेसीबी की सहायता से मृत महिला के शव को बाहर निकाला गया। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम कराने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बड़ी बाजार भेज दिया है।


ग्रामीण करते हैं कोयले की चोरी
एसइसीएल व पुलिस प्रशासन की उदासीनता के कारण लगातार अवैध उत्खनन कर कोयला की चोरी की जा रही है। अवैध कोयला को स्थानीय ईंट भ_ों में खपाया जाता है।

चोरी-छिपे कोयला उत्खनन (Coal mining) कराने के लिए अवैध भ_ा संचालक गरीब तबके लोगों को लालच देते हैं। इससे गरीब वर्ग के लोग अपनी जान हथेली में रखकर खदान के अंदर घुसकर कोयला चोरी करते हैं। इस दौरान वे कई बार हादसे का शिकार हो चुके हैं।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned