बंद हो चुकी खदानों से तस्कर कराते हैं कोयले का अवैध उत्खनन, फिर आधी रात खपाते हैं ईंट-भट्ठों में

Coal smuggling: चंद रुपयों का लालच (Greed) देकर गरीब व मजदूर वर्ग से तस्करों (Smugglers) द्वारा कराया जाता है कोयले का उत्खनन, मोटी रकम लेकर बेचते हैं कोयला

By: rampravesh vishwakarma

Published: 12 Feb 2021, 05:33 PM IST

चिरमिरी. एसईसीएल चिरमिरी की बंद खदानों से लगातार अवैध रूप से कोयला उत्खनन (Illegal coal mining) जारी है। कोयला तस्कर (Coal smugglers) गरीब, मजदूरों को अधिक पैसे का लालच देकर दिनभर उत्खनन कराते हैं और रातभर गाड़ी में लोड कर चिरमिरी-खडग़वां सहित आसपास गांव में संचालित अवैध ईंट भ_े में खपाते हैं। रुपयों की लालच में गरीब तबके के लोग अपनी जान की परवाह किए बगैर कोयला निकालते हैं।


कोरिया जिले के चिरमिरी में कोयला तस्कर (Coal smuggling) एक बार फिर सक्रिय हो गए है। बंद खदानों से जेसीबी सहित मजदूरों से कोयला उत्खनन कराने के बाद प्लास्टिक बोरों में लोड कराते हैं। वहीं आधी रात को बिना रजिस्ट्रेशन की गाडिय़ों से कोयले का अवैध परिवहन कर आस-पास के ईंट भ_ों में पहुंचाते हैं।

चिरमिरी के वार्ड-34 के कुरासिया, आमानाला, गोदरीपारा, डोमनहिल, हल्दीबाड़ी क्षेत्र से बड़ी मात्रा में कोयले का अवैध व्यापार (Illegal business of coal) फल-फुल रहा है।

मामले में पूर्व महापौर के डमरू रेड्डी ने प्रशासन को पत्र लिखकर अवैध कोयला उत्खनन-परिवहन के खिलाफ कार्रवाई मांग रखी थी। इसके बाद कुछ महीने तक कोयले का अवैध काम बंद था। फिलहाल दोबारा कोयले का अवैध व्यापार जारी है।


महिला की हो चुकी है मौत
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले चिरमिरी में अवैध उत्खनन (Illegal mining) करते समय कोयले में दबने से एक महिला की मृत्यु हो गई थी। अभी कुछ दिन पहले भाजपा मंडल अध्यक्ष के नेतृत्व में पुलिस को ज्ञापन सौंपकर अवैध कारोबार के खिलाफ कार्रवाई करने मांग की गई थी।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned