इस जिले में कोविड बेड फुल हो गया तो कोरोना की सैंपलिंग व टेस्टिंग पर ही लगा दी गई रोक

Covid-19: जिले में रोजाना 300 जांच होती थी, रविवार से बंद करा दी गई जांच, कोविड बेड विस्तार की चल रही तैयारी

By: rampravesh vishwakarma

Published: 24 Aug 2020, 10:10 PM IST

बैकुंठपुर. चरचा कॉलरी में लगातार कोरोना पॉजिटिव (Covid-19) मिलने और कोविड केयर सेंटर में मरीज रखने पर्याप्त बेड नहीं होने के कारण रविवार से टेस्टिंग कार्य बंद कर दिया गया है। इससे पहले रोजाना करीब 300 सैंपलिंग कर जांच होती थी।


सीएमएचओ डॉ आर शर्मा ने बताया कि हमारे पास 200 कोविड बेड हैं, इसमें करीब 123 एक्टिव केस हैं। कोविड केयर सेंटर बैकुंठपुर में 85 व चरचा रीजनल अस्पताल में 38 मरीज भर्ती हैं। कोरिया में 360 बेड विस्तार करने लक्ष्य रखा गया है। लाइवलीहुड कॉलेज सलका में कोविड बेड विस्तार करने की तैयारी चल रही है।

वहीं दूसरी ओर कोविड (Covid-19) केयर सेंटर में भर्ती मरीज व ड्यूटीरत मेडिकल स्टाफ को पौष्टिक आहार मुहैय्या कराने में परेशानी होने लगी है, क्योंकि स्वास्थ्य विभाग के पास बजट नहीं होने से उधार लेकर जैसे-तैसे पौष्टिक आहार उपलब्ध कराया जा रहा है।

लंबे समय से दूध, फल, किराना दुकान का उधार होने के कारण दुकानदार सामग्री आपूर्ति रोकने चेतावनी देने लगे है। लॉकडाउन लगने के बाद हर ब्लॉक को एंबुलेंस के रूप में 5-5 प्राइवेट गाडिय़ां दी थीं, जिनका भारी भरकम बिल बकाया है। अब कोविड हॉस्पिटल के नाम पर किसी प्रकार का बजट उपलब्ध नहीं है।


नए कोविड मरीज होम आइसोलेशन में रखे जाएंगे
सीएमएचओ डॉ शर्मा ने कहा कि नई गाइड लाइन के अनुसार मिलने वाले नए पॉजिटिव (Covid-19) को होम आइसोलेशन में रखने हर बीएमओ को जल्द आदेश दिया जाएगा। नए मरीज के घर में पर्सनल टॉयलेट-बाथरूम होना चाहिए। वहीं पॉजिटिव के घर में बुजुर्ग होने पर कोविड सेंटर में रखा जाएगा।

होम आइसोलेशन में रहने वाले पॉजिटिव को गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने बांड भराकर डॉक्टर का वाट्सएप नंबर उपलब्ध कराया जाएगा। इससे मरीज फोन व वीडियो कॉल के माध्यम से अपडेट करता रहेगा।

COVID-19 COVID-19 virus
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned