scriptearthquak korea | KOREA में 25 दिन के भीतर तीसरी बार earthquak: कटगोड़ी, चरचा और अब पटना की धरती डोली, सूरजपुर में स्कूलों की छुट्टी करनी पड़ी | Patrika News

KOREA में 25 दिन के भीतर तीसरी बार earthquak: कटगोड़ी, चरचा और अब पटना की धरती डोली, सूरजपुर में स्कूलों की छुट्टी करनी पड़ी

- जिले में २५ दिन के भीतर तीसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए।

कोरीया

Published: August 04, 2022 08:34:31 pm

बैकुंठपुर/पटना। कोरिया में गुरुवार को तीसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। पहली बार कटगोड़ी, फिर चरचा कॉलरी और अब पटना क्षेत्र में भूकंप के झटके लगे हैं। भूकंप के झटके से भैयाथान ब्लॉक के गंगोटी हाईस्कूल की दीवारों पर दरारें आई गई है। उसके बाद दोपहर 12.30 बजे से स्कूलों में छुट्टी कर दी गई।
,
KOREA में 25 दिन के भीतर तीसरी बार earthquak: कटगोड़ी, चरचा और अब पटना की धरती डोली, सूरजपुर में स्कूलों की छुट्टी करनी पड़ी,KOREA में 25 दिन के भीतर तीसरी बार earthquak: कटगोड़ी, चरचा और अब पटना की धरती डोली, सूरजपुर में स्कूलों की छुट्टी करनी पड़ी

सरगुजा संभाग के कोरिया में सुबह 11.57 बजे महज 1 सेकंड भारतीय मानक समय पर एक बार फिर धरती के हिलने की घटना हुई है। भूकंप की तीव्रता भूमि सतह से 10 किलोमीटर की गहराई में 3.0 रिएक्टर मापी गई है। हालाकि कई साइट्स में भूकंप की तीव्रता ४.७ रिएक्टर बताया गया है। भूकंप का केंद्र 23.0 उत्तरी अक्षांश और 82.8 पूर्वी देशांतर पर स्थित था। भूकंप की आवृत्ति के बाद सूरजपुर जिले में धरती डोलने की घटना हुई है। ग्राम पंचायत पटना में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। हालांकि यह सामान्य श्रेणी का भूकंप था, जो बड़ा नुकसान पहुंचाने की क्षमता नहीं था। फिर भी केंद्र के पास जहां कंपन अधिक होती है, वहां यह प्रभावकारी हो सकता है। पटना क्षेत्र से सोशल मीडिया में कुछ फोटो वायरल हुआ है। उसमें दीवारों पर क्रेक पडऩे की बात कही जा रही है।

जिले में कब-कब भूकंप आया है
जानकारी के अनुसार पिछली बार 11 जुलाई को कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के पास कटगोड़ी में 4.3 रिएक्टर का भूकंप आया था। उसके बाद दोबारा 29 जुलाई को कटगोड़ी के नजदीक चरचा कॉलरी में 4.6 रिएक्टर पैमाने का भूकम्प आने से लोगों को हैरानी हुई थी। दूसरी बार के भूकंप में कोयला खदान के भीतर एयर ब्लास्ट होने से पांच मजदूर गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं।

भूगर्भशास्त्री यह बोले, कोयला खनन भूकंप के कारण हो सकता है
शासकीय लाहिड़ी स्नातकोत्तर महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक(भूविज्ञान) जय सिंह ने बताया कि इस क्षेत्र में भूकंप आने को मूख कारण टेक्टोनिक गतिविधिया है। यह भूकंप क्षेत्र तृतीय के अंतर्गत आते हैं। यहां सेंट्रल इण्डिया टेक्टोनिक जोन के साथ कुछ और भी सियर जोन हैं। इस क्षेत्र में गवीलगढ़ तान सियर जोन, जो सक्रिय है। जिसकी वजह से भूकंप आ सकते हैं। इसके आलावा प्रेरित भूकंपीयता, जो गौण श्रेणी के अंतर्गत हैं। जिसका कारण खनन गतिविधियां होती है। यह भी भूकंप के कारण हो सकते हैं। जो भारत के कई कोयला क्षेत्र में देखने को मिला है। भविष्य में यहां भूकंप की तीव्रता बढ़ भी सकती है। क्योंकिकई वर्षों से भूकंप की तीव्रता बढ़ रही है। इसलिए हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है।

भूकंप से हाईस्कूल की दीवार पर दरारें पड़ी, एहतियातन सूरजपुर के स्कूलों में छुट्टी कर दी
अंबिकापुर। सूरजपुर में गुरुवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.7 मापी गई। वहीं दो बार भूकंप का केंद्र कोरिया रहा, जबकि तीसरी बार आए भूकंप का केंद्र सूरजपुर जिले से 15 किमी दूर रहा। भूकंप के झटके से भैयाथान ब्लॉक के गंगोटी हाईस्कूल की दीवारों पर दरारें आई गई है। मामले में सूरजपुर कलक्टर इफ्फत आरा ने डीइओ विनोद राय को जिले के सभी शासकीय व निजी स्कूलों में छुट्टी करने निर्देश दिए। जिससे डीइओ ने व्हाट्सएप गु्रप में छुट्टी का आदेश जारी कर दिया। उसके बाद दोपहर 12.30 बजे से स्कूलों में छुट्टी कर दी गई।

गुरुवार सुबह ११.५७ बजे भूकंपीय झटके महसूस किए गए। जमीन से करीब १० किलोमीटर नीचे भूकंपीय हलचल हुआ है। जिसकी तीव्रता ३.० रिएक्टर है। भूकंप का केंद्र 23.0 उत्तरी अक्षांश और 82.8 पूर्वी देशांतर पर स्थित था।
अक्षय मोहन भट्ट, मौसम वैज्ञानिक अंबिकापुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

NSA अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक को लेकर केंद्र का बड़ा एक्शन, हटाए गए 3 कमांडो'रूसी तेल खरीदकर हमारा खून खरीद रहा है भारत', यूक्रेन के विदेश मंत्री Dmytro KulebaNagpur Crime: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस के घर के बाहर मजदूर ने किया सुसाइड, मचा हड़कंपरोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दियालालू यादव ने बताया 2024 का प्लान, बोले- तानाशाह सरकार को हटाना हमारा मकसद, सुशील मोदी को बताया झूठाPunjab Bomb Scare: अमृतसर में SI की गाड़ी में बम लगाने वाले दो आरोपी दिल्ली से गिरफ्तार, कनाडा भागने की फिराक में थेगुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, वरिष्ठ नेता नरेश रावल और राजू परमार ने थामी भाजपा की कमानशाबाश भावना: यूरोप की सबसे बड़ी चोटी भी नहीं डिगा पाई मध्यप्रदेश की बेटी का हौसला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.