तपती गर्मी में इन पर तो रहम करो सरकार, मरीजों पर पड़ रही लचर स्वास्थ्य व्यवस्था की मार

तपती गर्मी में इन पर तो रहम करो सरकार, मरीजों पर पड़ रही लचर स्वास्थ्य व्यवस्था की मार

Bhupesh Tripathi | Updated: 12 Jun 2019, 07:18:18 PM (IST) Koria, Koria, Chhattisgarh, India

* छत्तीसगढ़ में लचर स्वास्थ्य व्यवस्था (health Services) का एक उदाहरण, अस्पताल में मरीजों को ले जाने में कर रहे चादर का इस्तेमाल

कोरिया। छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh government) इन दिनों स्वास्थ्य के क्षेत्र में यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम पर तेजी से काम कर रही है, इसे क्रांतिकारी व्यवस्था (Health services) का नाम दिया जा रहा है। लेकिन इन सब के बीच सरकारी अस्पतालों (Govermnet hospitals) में स्वास्थ्य सुविधाओं की जमीनी हकीकत भी किसी से छिपी नहीं है। वह भी संभाग का सबसे बड़ा अस्पताल जब भारी अव्यवस्था के बीच संचालित हो रहा तो सवाल उठना लाजिमी है।

बीमार मरीजों को सिस्टम की लापरवाही (Bad services) की ऐसी सजा मिल रही है, जो देखने में काफी तकलीफदेह है। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में सिटी स्कैन मशीन लापरवाही से इंस्टॉल नहीं हो सकी है, इससे मरीजों को परिजन तपिश भरी गर्मी में स्टे्रचर पर लिटाकर सूर्य की आग उगल रही किरणों के बीच निजी सेंटर ले जा रहे हैं। मंगलवार को ऐसे ही मामले में परिजन मरीज को चादर से ढक कर ले जाते नजर आए।

समाज अस्पताल और डॉक्टरों को भगवान का रूप मानता है लेकिन स्वास्थ्य व्यवस्थाओ ने लोगो का मन चीर रखा है। कही अस्पतालों में दवाइयों कि कमी तो कहीं प्रबंधन (Hospital managment) की लापरवाही (bad helath schemes) ने कइयों कि जान ले चुकी है और ये दौर प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में लगातार जारी है। सरकार को इस विषय में कड़ी कार्रवाई करने की आवश्यकता है ताकि प्रदेश के सभी जनता को सही चिकित्सा सुविधा मुहैया हो सके।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned