आंध्रप्रदेश से 56 लाख का गांजा लेकर पहुंचे थे कोरिया, आरोपी विशाखापट्नम से गिरफ्तार

Hemp smuggling: 8 क्विंटल गांजे से भरे ट्रक (Truck full of Hemp) को लावारिस छोड़कर भाग निकले थे ड्राइवर-खलासी, गांजे की बोरियों के ऊपर लाद रखा था आम (Mango) ताकि पुलिस को दे सकें चकमा, 3 साल से फरार आरोपी की तलाश में जुटी हुई थी पुलिस

By: rampravesh vishwakarma

Published: 14 Oct 2021, 11:46 PM IST

बैकुंठपुर. Hemp Smuggling: 8 क्विंटल गांजे की तस्करी करने वाले 2 साल से फरार आरोपी को पुलिस ने विशाखापट्नम से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। दरअसल वर्ष 2019 में पुलिस ने लावारिस हालत में एक ट्रक को जब्त किया था। उसमें आम के नीचे दबाकर गांजा की बोरियां रखी गई थीं। जब्त गांजे की कीमत 56 लाख रुपए थी।


8 जून 2019 में चिरमिरी थाना क्षेत्र के चौकी कोरिया गेल्हापानी में मुखबिर की सूचना के आधार पर एक अज्ञात ट्रक क्रमांक एपी 07 वाई 4347 में आम लदा हुआ मिला था। ट्रक गेल्हापानी मुख्य मार्ग में लावारिस खड़ा था और ड्राइवर एवं खलासी गायब थे। मामले में कोरिया पुलिस चौकी की टीम पहुंचकर ट्रक को कब्जे में लिया गया।

जांच करने पर 8 क्विंटल गांजा बरामद हुआ था। आसपास पता करने पर ट्रक ड्राइवर एवं खलासी नहीं मिले थे। इस पर ट्रक के मालिक एवं चालक के विरुद्ध धारा 20(बी) एनडीपीएस एक्ट का अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया था।

प्रकरण में जब्तशुदा ट्रक की आंध्र प्रदेश आरटीओ से जानकारी लेकर वाहन मालिक किम्मी अजय पिता किम्मी रघु निवासी कुकड़ी आंध्र प्रदेश की तलाश करने टीम भेजी गई थी।

Hemp smuggling
IMAGE CREDIT: KOria apolice

इस दौरान आरोपी अपने घर से कई दिन से लापता था। एसपी संतोष सिंह एवं सीएसपी पीपी सिंह द्वारा आरोपी को पकडऩे विशेष टीम गठित कर पुणे भेजा गया। पुलिस टीम आरोपी को विशाखापट्टनम से गिरफ्तार कर थाना चिरमिरी लाई है। कोरिया पुलिस ने 3 साल पहले अवैध गांजा व ट्रक सहित ७१ लाख का माल बरामद किया था।

Read More: ओडिशा से अंबिकापुर पहुंची स्कॉर्पियो को पुलिस ने रुकवाया, तलाशी में डिक्की से निकला 50 किलो गांजा


गांजे की बोरी के ऊपर लोड कर रखा था आम
कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी किम्मी अजय ने पुलिस को बताया गया कि अपने निवास विजय पुरम से ट्रक में पहले 20 बोरी गांजा, करीब 8 क्विंटल को छत्तीसगढ़ लेकर आना था। गांजे को छिपाने के उद्देश्य से ट्रक में आम लोड किया गया था, ताकि किसी को शक न हो कि ट्रक में गांजा लोड है।

गांजे को बेचने के फिराक में अपने जिले से लगे छत्तीसगढ़ प्रांत के अन्य जिले में मादक पदार्थ गांजा खपाने निकला था। एसपी सिंह ने कहा कि अवैध कारोबार पर लगातार कार्यवाही जारी रहेगी।

Read More: झोला लेकर शहर में दाखिल हुए 2 युवक, पुलिस ने तलाशी ली तो निकला ये सामान, गिरफ्तार


आंध्र प्रदेश के गांजे की कीमत सबसे अधिक
गेल्हापानी मुख्य मार्ग में जून 2019 में चार दिन से गांजा लोड ट्रक लावारिस खड़ा था। पुलिस को सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची और ट्रक को गांजा सहित धक्का देकर पुलिस चौकी लाया गया था। आंध्र प्रदेश से आने वाला गांजा सबसे अधिक कीमत पर बिकता है।

जबकि झारखंड व ओडिशा सहित अन्य प्रदेश के आने वाले गांजे की कीमत कम रहती है। तीन साल पहले एक किलोग्राम गांजे की कीमत ७ हजार के हिसाब से 800 किलोग्राम गांजे की कीमत ५६ लाख आंकी गई थी।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned