यहां के डेम से निकली इतनी बड़ी मछली कि देखकर हैरान रह गए लोग, फिर कही ये बात

Huge fish: मत्स्य विभाग ने पटना के व्यापारी (Fish businessman) को 3200 रुपए में बेचा, व्यापारी ने 18 ग्राहक को बेचकर 2 हजार शुद्ध मुनाफा (Profit) कमाया

By: rampravesh vishwakarma

Published: 15 Jun 2021, 03:04 PM IST

बैकुंठपुर. कोरिया जिले में मध्यम सिंचाई परियोजना व सबसे बड़े झुमका जलाशय (Jhumka Dam) में मत्स्य विभाग के ठेकेदार द्वारा मछली पालन किया गया है। 13 जून की सुबह विभाग द्वारा मछली पकड़ी जा रही थी, इस बीच जाल में इतनी बड़ी मछली फंस गई कि देखकर सभी हैरान रह गए।

जब मछली की तौल कराई गई तो उसका वजन 30 किलोग्राम निकला। पकड़ी गई कतला मछली की लंबाई करीब एक मीटर थी। ऐसा पहली बार हुआ है कि झुमका डेम से 30 किलोग्राम मछली (Huge fish) पकड़ी गई है। ठेकेदार द्वारा इसे व्यापारी को बेच दिया गया।

Read More: खदान का गंदा पानी 'झुमका जलाशय' को कर रहा प्रदूषित


कोरिया जिले के ग्राम पंचायत पटना के व्यापारी अशोक यादव रविवार सुबह बैकुंठपुर स्थित झुमका जलाशय मछली खरीदने आया था। इसी बीच मत्स्य विभाग (Fishery Department), ठेकेदार के स्टाफ जलाशय के बीच से बड़ी मछली निकाल रहे थे।

तौल कराने पर वजन 30 किलोग्राम व लंबाई एक मीटर मापी गई। व्यापारी ने उस मछली को 3200 रुपए में खरीदकर पटना अपनी दुकान ले गया। मछली को देखने वालों की भीड़ लगने लगी।

वहीं भीड़ के बीच से ही 16-18 ग्राहक को मांग के हिसाब से मछली को 5200 रुपए में बेच दी। इस दौरान व्यापारी को 2000 रुपए का शुद्ध मुनाफा हुआ।

Read More: 6 किमी दूर बहकर आ गई थी हसदेव नदी डेम में डूबे किशोर की लाश, 22 घंटे बाद पत्थरों के बीच फंसा मिला


कतला मछली 1.8 मीटर लंबी, 60 किग्रा हो सकता है वजन
कतला तेजी से बढऩे वाली मछली है। कई साल से रखने पर कतला मछली की लंबाई 1.8 मीटर और 60 किलोग्राम वजन तक बढ़ सकता है।

Huge fish
IMAGE CREDIT: Fishery department

व्यापारी का कहना है कि झुमका जलाशय में मिली मछली को बढऩे के लिए पर्याप्त समय नहीं मिला होगा। इस कारण 30 किलो वजन हुआ है। यह मछली नदी-झील सहित अन्य जलस्रोत में मिलती है।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned