दो ग्रामीणों की जान लेने वाले भालू को गोली मारने बिलासपुर से आई स्पेशल टीम

ग्राम टेंगनी के जंगल में स्थानीय पुलिस व वन अमले के साथ डाला डेरा

By: Pranayraj rana

Published: 26 Aug 2016, 12:56 PM IST

बैकुंठपुर/चिरमिरी/ पोंड़ी चिरमिरी.  दो ग्रामीणों की जान लेने वाले भालू को मारने के लिए बिलासपुर से स्पेशल टीम बुलाई गई है। ये टीम स्थानीय पुलिस व वन अमले के साथ जंगल में भालू की तलाश में जुटी हुई है।

गौरतलब है कि गौरतलब है कि ग्राम पंचायत पोटेडांड़ का मदनपुर निवासी बंशधारी पिता बुधराम(50) अपने बेटे के साथ टेंगनी पहाड़ पर गुरुवार की दोपहर लगभग 1 बजे जंगल में लकड़ी काटने गया था। इस  एक आदमखोर भालू पहुंचा और बंशधारी को दबोच कर पहाड़ की खाई में ले भागा। इस पर बेटे ने सड़क पर बाइक सवार कुछ युवकों से मदद की गुहार लगाई। पुत्र की गुहार सुनकर गेल्हापानी निवासी सुशांत साहू(35) पहाड़ी की खाई में चला गया। इसे भी भालू ने हमला कर मार डाला था।

इस घटना की सूचना मिलने पर वन विभाग व पुलिस विभाग की टीम घटना स्थल पर पहुंची थी। भालू ने उन पर भी हमला कर दिया थी। इससे गेल्हापानी निवासी जीत साय पिता गनेशी प्रसाद व तीन पुलिसकर्मी अंबुज सिंह, संजय पांडेय व गोपाला महानंद घायल हो गए थे। भालू को काफी आक्रामक होता देख उसे गोली मारने के आर्डर दिया गया, फिर पुलिसकर्मियों ने दो-तीन राउंड गोली चलाई, इस पर भालू जंगल की ओर भाग गया था।

 देर रात तक पुलिस व वन अमले की टीम भालू की तलाश में जंगल की खाक छानकर लौट गई। भालू को मारने के लिए शुक्रवार को बिलासपुर से फॉरेस्ट की आठ सदस्यीय टीम डॉ. चंदन के नेतृत्व में आई है। ये टीम स्थानीय वन व पुलिस अमले के साथ ग्राम टेंगनी के जंगल में भालू की तलाश में डेरा डाली हुई है। अभी तक भालू का कोई सुराग नहीं मिल सका है।  

Pranayraj rana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned