इस गांव में महज 4 वोटरों के लिए चुनाव आयोग ने बनाया बूथ

इस गांव में महज 4 वोटरों के लिए चुनाव आयोग ने बनाया बूथ

Deepak Sahu | Publish: Apr, 22 2019 07:44:30 PM (IST) | Updated: Apr, 22 2019 07:44:31 PM (IST) Koria, Koria, Chhattisgarh, India

* कोरिया जिले के शेराडांड में हैं केवल 4 मतदाता

* एक परिवार के तीन सदस्य और एक फायर वाचर हैं मतदाता

कोरिया। लोकसभा चुनाव का तीसरा चरण मतदान मंगलवार को छत्तीसगढ़ के सात सीटों में संपन्न होना है। जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर से लगभग 95 किलोमीटर की दूरी में स्थित ग्राम शेराडांड जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर कोरिया श्री भोस्कर विलास संदिपान के मार्गदर्शन में लोकसभा निर्वाचन 2019 हेतु कोरिया जिले के अत्यंत दुर्गम स्थल सोनहत विकासखंड के चंदहा ग्राम पंचायत के आश्रित ग्राम शेराडांड में स्थापित अस्थायी एवं जिले के सबसे छोटे मतदान केंद्र क्रमांक 143 में मतदान हेतु सभी व्यवस्थाएं पूर्ण कर ली गई हैं।

यहां केवल 4 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। जिसमें एक ही परिवार के तीन मतदाता श्री देवराज चेरवा, श्री राम प्रसाद चेरवा, श्रीमती सिंगारो बाई चेरवा एवं वन विभाग में फायर वाचर के रूप में पदस्थ मतदाता श्री महिपाल राम रौतिया शामिल हैं। विधानसभा चुनाव में इस गांव के केवल तीन लोगो ने मतदान किया था ।

election

इस बार फायर वाचर का भी नाम जुड़ा
ग्राम पंचायत चंदहा का आश्रित ग्राम है शेराडांड। चंदहा से शेराडांड की दूरी करीब 12 किलोमीटर है। अब तक यहां तीन ही मतदाता थे। इसमें देवराज चेरवा (63 वर्ष), राम प्रसाद चेरवा (25 वर्ष) और सिंगरो बाई चेरवा (22 वर्ष) शामिल हैं। जंगलों में आग बुझाने के लिए नियुक्त फायर वाचर महिपाल राम रोसिया (45 वर्ष) का भी नाम इस बार मतदाता सूची में जुड़ गया है। इस तरह कुल मिलाकर यहां चार मतदाता अपने अधिकारों का प्रयोग करेंगे।

उल्लेखनीय है कि विगत दिनों जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्री भोस्कर विलास संदिपान ने अपने भ्रमण के दौरान इस अत्यंत दुर्गम स्थल शेराडांड पहुंचकर वहां बनने वाले अस्थायी मतदान केंद्र का जायजा लेकर वहां निवासरत चेरवा जाति के परिवार से मुलाकात की। उन्होंने उनकी समस्याओं के बारे में पूछा तथा उन्हें बिजली, पानी, राशन, वृध्दावस्था पेंशन एवं उनके जीविकोपार्जन आदि के बारे में पूछकर शासन से मिलने वाली योजनाओं की जानकारी दी।

शेराडांड जैसे दुर्गमतम स्थल में भी शासन द्वारा उन्हें सोलर पैनल के तहत बिजली, स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय एवं पेयजल समस्या से निजात दिलाने हेतु बोरिंग की भी व्यवस्था की गई है। जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर से लगभग 95 किलोमीटर की दूरी पर शेराडांड सोनहत विकासखंड के ग्राम पंचायत चंदहा से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी उबड़ खाबड़ पगडण्डी रास्ते से होकर जंगल एवं पहाडों के बीच से जाना पडता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned