Video: 10 दिन बाद लौटे 20 कांग्रेसी पार्षद, सीधे पहुंचे निगम और ली शपथ, मतगणना के बाद से ही थे गायब, कंचन बनीं महापौर

Political: 27 दिसंबर को 20 कांग्रेसी पार्षदों को बस से भेजा गया था टूर पर, अलसुबह लौटने के बाद होटल में ठहरे फिर सीधे पहुंचे निगम के सभागार में

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 06 Jan 2020, 04:02 PM IST

चिरमिरी पोड़ी. नगर निगम चिरमिरी में महापौर-सभापति चुनाव के दिन कांग्रेसी पार्षद टूर से अलसुबह लौटे। बस से लौटने के बाद मनेंद्रगढ़ के हॉटल हसदेव-इन से चाय-नाश्ता किया और सीधे निगम के सभागार में पद एवं गोपनीयता की शपथ ली।

इस दौरान महापौर-सभापति चुनाव में भाजपा के प्रत्याशियों के नामांकन वापसी के बाद मनेंद्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल की धर्मपत्नी कंचन जायसवाल निर्विरोध महापौर बनीं। वहीं निगम सभापति के रूप में गायत्री बिरहा को निर्विरोध चुन लिया गया है। (Political news)

जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह ने 6 जनवरी सुबह 10 बजे से नगर निगम चिरमिरी के नवनिर्वाचित पार्षदों को शपथ ग्रहण कराने, प्रथम सम्मेलन में महापौर, अध्यक्ष (निगम सभापति) एवं 4 अपील समिति के सदस्यों का चुनाव कराने समय सारणी की घोषणा कर दी थी।

इससे निर्धारित समय पर पीठासीन अधिकारी निगम सभागार पहुंचे। वहीं निगम कार्यालय परिसर में निर्धारित समय से ठीक पहले 24 कांग्रेस पार्षद को लेकर बस पहुंची। इसमें कांग्रेसी पार्षद सवार थे और बस से उतरकर सीधे निगम सभागार पहुंचे और शपथ ग्रहण समारोह में पद व गोपनीयता की शपथ ली।

मामले में करीब एक घंटे बाद 11 बजे से महापौर-सभापति चुनाव कराने नामांकन जमा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। नगर निगम में शपथ ग्रहण समारोह के बाद पूर्व विधायक व कांग्रेस पर्यवेक्षक मोतीलाल देवांगन की मौजूदगी में महापौर पद की प्रत्याशी कंचन जायसवाल व सभापति प्रत्याशी गायत्री बिरहा के नाम पर मुहर लगी।

Video: 10 दिन बाद लौटे 20 हाईजैक कांग्रेसी पार्षद! सीधे पहुंचे निगम और ली शपथ, मतगणना के बाद से ही थे गायब, कंचन बनीं महापौर

कांग्रेस की ओर से महापौर प्रत्याशी कंचन जायसवाल, सभापति गायत्री बिरहा का नामांकन भरा गया। वहीं भाजपा की ओर से महापौर प्रत्याशी गंगाबाई व सभापति प्रत्याशी संतोष सिंह का पर्चा दाखिल किया गया। दोपहर करीब 12 से 12.30 बजे से महापौर-सभापति उम्मीदवारों के नामांकन पत्र की स्क्रूटनी की गई।

वहीं नाम वापस लेने निर्धारित समय दोपहर 12.35 से 1 बजे के बीच भाजपा के महापौर-सभापति के उम्मीदवारों ने अपना नामांकन पत्र वापस लिया। इससे चिरमिरी निगम महापौर चुनाव के रूप में कंचन जायसवाल व सभापति के रूप में गायत्री बिरहा निर्विरोध चुनी गई हैं। महापौर-सभापति की अधिकृत घोषणा होने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पटाखे फोडक़र बाजे-गाजे के साथ जमकर खुशियां मनाई।


कांग्रेस पार्षदों को 27 दिसंबर से भेजा गया था टूप, रायपुर में महापौर प्रत्याशी को लेकर बनी सहमति
नगरीय निकाय चुनाव-2019 का 24 दिसंबर को परिणाम आया था। अगले दिन मनेंद्रगढ़ विधायक डॉ विनय जायसवाल के निवास में कांग्रेस पार्षदों का सम्मान किया गया था। ठीक दो दिन बाद कांग्रेसी पार्षदों को रायपुर भेजा गया। इस दौरान निगम महापौर चुनने एक नाम पर सहमति बनाई गई थी और रायपुर से ही एक बस की बुकिंग कर चुनाव तिथि तक कांग्रेसी पार्षदों को टूर पर भेज दिया गया था।

इस दौरान विशाखापट्टनम सहित अन्य पर्यटन स्थलों का भ्रमण कराया गया। महापौर-सभापति चुनाव के एक दिन पहले सोमवार को भोर में कांग्रेसी पार्षद बुकिंग वाली बस में सवार होकर मनेंद्रगढ़ के हॉटल हसदेव-इन पहुंचे।

कांग्रेस से महापौर की प्रबल दावेदार कंचन जायसवाल मनेंद्रगढ़ पहुंची और कांग्रेसी पार्षदों से मिलकर वोटिंग को लेकर चर्चा कर लौटीं। हॉटल में फ्रेश होने, चाय-नाश्ता कराने के बाद बस पार्षदों को लेकर निगम कार्यालय परिसर पहुंची।

Video: 10 दिन बाद लौटे 20 हाईजैक कांग्रेसी पार्षद! सीधे पहुंचे निगम और ली शपथ, मतगणना के बाद से ही थे गायब, कंचन बनीं महापौर

क्रॉस वोटिंग से डरी भाजपा! इसलिए वापस लिया नामांकन
नगर निगम चिरमिरी में महापौर-सभापति चुनाव प्रक्रिया में भाजपा प्रत्याशी की ओर से दाखिल नामांकन पत्र को वापस लेने के बाद कांग्रेस की प्रत्याशियों को निर्विरोध चुन लिया गया है। महापौर-सभापति की अधिकृत घोषणा होने के बाद शहर में जगह-जगह चर्चाएं होने लगी है कि भाजपा ने महापौर-सभापति चुनाव के लिए अपना प्रत्याशी खड़ा किया था लेकिन नगर पालिका मनेंद्रगढ़ में अध्यक्ष चुनाव में क्रॉस वोटिंग हुई थी।

भाजपा के पार्षदों ने कांग्रेस प्रत्याशी को अपना बहुमूल्य वोट दिया था। भाजपा के जिला संगठन ने उसी बात को ध्यान में रखकर महापौर-सभापति चुनाव के लिए अधिकृत प्रत्याशियों का नामांकन वापस लिया है।


जनता ने विपक्ष में बैठने का दिया है मौका
पार्टी हाईकमान के निर्देश पर हमने महापौर-सभापति चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया था। उसके बाद हमारे निर्वाचित पार्षदों से चर्चा की गई। इसमें हमारे पास निर्वाचित १३ पार्षद है, ऐसे में हम महापौर और सभापति नहीं बना सकते हैं। इसलिए हमने चर्चा कर नामांकन वापस लेने का निर्णय लिया। शहर की जनता ने हमें पांच साल के लिए विपक्ष में बैठने का मौका दिया है।
कृष्णबिहारी जायसवाल, जिलाध्यक्ष भाजपा कोरिया


शहर का होगा ऐतिहासिक विकास
प्रदेश में कांग्रेस सरकार की बेहतर कार्य, कार्यकर्ताओं की मेहनत के कारण चुनाव में जीत मिली है। मनेंद्रगढ़ नपा में अध्यक्ष चुनाव में भाजपा के पार्षदों ने कांग्रेस उम्मीदवार को वोट दिया था और संदेश दिया कि लोकतंत्र में विश्वास है। चिरमिरी में कांग्रेस महापौर बनने के बाद आने वाले दिनों में शहर का ऐतिहासिक विकास होगा।
डॉ. विनय जायवाल, विधायक मनेंद्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned