scriptSandal: Now white sandalwood demand from the ministry to the CM House | अब सफेद चंदन की धमक मंत्रालय से लेकर सीएम हाउस तक, चंदन के 50 हजार पौधे तैयार | Patrika News

अब सफेद चंदन की धमक मंत्रालय से लेकर सीएम हाउस तक, चंदन के 50 हजार पौधे तैयार

White Sandal: पहले जलाऊ लकड़ी के रूप में सफेद चंदन (White Sandal) का उपयोग करते थे ग्रामीण, जब फॉरेस्ट विभाग को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने चंदन के पौधे (Sandal nursery) तैयार करने की योजना बनाई और अब 3 साल में 50 हजार पौधे तैयार कर दिए, पौधे बड़े होकर वृक्ष का लेने लगे रूप

कोरीया

Published: May 09, 2022 04:24:42 pm

योगेश चंद्रा/महेश साहू.
बैकुंठपुर/बरबसपुर. White Sandal: छत्तीसगढ़ में सफेद चंदन की डिमांड के कारण फॉरेस्ट की हसदेव नर्सरी में पहली बार सफेद चंदन के पौधों का उत्पादन बढ़ाया गया है। अब वीवीआईपी बंगले, उनके बागान और बाड़ी में सफेद चंदन के पौधे शोभा बढ़ा रहे हंै। सफेद चंदन की धमक मंत्रालय (Ministry) से लेकर सीएम हाउस (CM House) तक पहुंच चुकी है, इसलिए कोरिया जिले की नर्सरी में पिछले तीन साल में 50 हजार चंदन के पौधे तैयार किए गए हैं। कोरिया जिले के हसदेव वनमंडल मनेंद्रगढ़ स्थित नर्सरी में तैयार सफेद चंदन (White Sandal) के पौधे रायपुर सीएम हाउस से लेकर मंत्रालय तक पहुंचने लगे हैं।
White sandal
White sandal in Hasdeo nursery

मनेंद्रगढ़ वनमण्डल में करीब एक दशक पहले ग्रामीण चंदन (White sandal) के पौधों को जलाऊ लकड़ी के रूप में इस्तेमाल करते थे। मामले की जानकारी होने के बाद वन अफसरों ने पौधे तैयार करने योजना बनाई थी। फिर बिहारपुर वनपरिक्षेत्र के स्थायी रोपणी हसदेव में करीब एक दशक पहले चंदन के बीज से पौधे तैयार करने ट्रायल हुआ था।
प्रयोग सफल होने के बाद धीरे-धीरे पौधों की क्षमता बढ़ाई गई। पांच हेक्टेयर में चंदन के पौधे तैयार करने नर्सरी आरक्षित है और चंदन के पौधे प्लांटेशन करने 13 हेक्टेयर जमीन सुरक्षित रखी गई है। फिर धीरे-धीरे चंदन के पौधे के डिमांड बढऩे लगी। फिलहाल राज्यभर के व्हाइट कलर 5-10 की संख्या में अपने बगान-बाड़ी में सफेद चंदन के पौधे लगाने डिमांग करने लगे हैं।
लगातार डिमांड बढऩे के कारण फॉरेस्ट ने तीन साल पहले वृहद स्तर पर चंदन के 50 हजार पौधे तैयार किए हैं। हसदेव नर्सरी में उत्पादित सफेद चंदन के पौधे सरगुजा अंचल सहित रायपुर सीएम हाउस व मंत्रालय, वीवीआईपी, बड़े जनप्रतिनिधि और अफसर अपने घरों में पौधे लगवा रहे हैं। हालांकि व्यावसायिक स्तर पर डिमांड नहीं आया है, सिर्फ शौकिया तौर पर बागान-बाड़ी में चंदन के पौधे लगाने डिमांड आ रहे हंै।
यह भी पढ़ें
बल्ब पर पहरा! अब निगम क्षेत्र में सुबह बल्ब जलता मिला तो काट दिया जाएगा कनेक्शन, फरमान जारी

वहीं आसपास के किसान 2-4 पौधे अपनी बाड़ी में लगा रहे हैं। सहायक वनपरिक्षेत्राधिकारी हीरा सिंह व नर्सरी प्रभारी विनय सिंह ने बताया कि हसदेव नर्सरी में दो-तीन साल में करीब 50 हजार चंदन के पौधे तैयार हैं। व्यावसायिक रूप से डिमांड नहीं आता है, सिर्फ शौकिया तौर पर 5-10 नग पौधे मांगते हैं।
White sandal in CM house
IMAGE CREDIT: White sandal
अमृतधारा पर्यटन स्थल 25 हेक्टेयर में 27500 पौधे
मनेंद्रगढ़ वनमण्डल द्वारा वर्ष 2014-15 में 25 हेक्टेयर भूमि आरक्षित रखी गई है। इसमें 27 हजार 500 चंदन के पौधे लगाए गए हैं। वर्तमान में चंदन के पौधे (White sandal plants) बड़े होकर वृक्ष का रूप धारण करने लगे हैं। चंदन के पौधों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर चिह्नित एरिया को तार से घेरावा किया गया है। हसदेव नर्सरी में चंदन के पौधे तैयार होने के बाद डिमांड नहीं आने पर अमृतधारा में रोपण किया जाएगा।
यह भी पढ़ें
छत्तीसगढ़ में 1 लीची की कीमत 1 हजार रुपए, रेट सुनकर उड़ गए होश, ढाई सौ तक देने को थे तैयार


व्यवसायिक रूप से नहीं आ रही डिमांड
हसदेव नर्सरी में चंदन के पौधे तैयार करते हैं। फिलहाल व्यावसायिक रूप से डिमांड नहीं आता है, सिर्फ शौकिया तौर पर गिनती के पौधे ले जाते हैं। इस साल नर्सरी में बड़ी संख्या में चंदन के पौधे तैयार हो चुके हैं।
लोकनाथ पटेल, डीएफओ वनमण्डल मनेंद्रगढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Jammu-Kashmir News: शोपियां में फिर आतंकी हमला, CRPF के बंकर पर ग्रेनेड अटैकओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनातकैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरशिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारकेंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के मानहानि के बयान पर मंत्री जोशी का पलटवार, कहा-दम है तो करें मानहानिभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.