शर्मनाक! कोरबा के नामी निजी अस्पताल ने 15 घंटे तक बंधक बनाया कोरिया के युवक का शव, विस अध्यक्ष ने लगाई फटकार तो...

शर्मनाक! कोरबा के नामी निजी अस्पताल ने 15 घंटे तक बंधक बनाया कोरिया के युवक का शव, विस अध्यक्ष ने लगाई फटकार तो...

Ram Prawesh Wishwakarma | Updated: 08 Aug 2019, 06:03:10 PM (IST) Koria, Koria, Chhattisgarh, India

Shameful: पेट दर्द की शिकायत के बाद युवक को कराया गया था भर्ती, 25 हजार रुपए भुगतान कर चुके थे परिजन, 17 हजार 180 रुपए बकाया होने पर किया ऐसा काम

पोड़ी बचरा. कोरबा के नामचीन प्राइवेट अस्पताल में कोरिया के युवक की मौत के बाद 17 हजार 180 रुपए बकाया राशि जमा नहीं करने पर 15 घंटे तक अस्पताल प्रबंधन द्वारा शव को बंधक बनाकर रखने का शर्मनाक (Shameful) मामला सामने आया है।

इसकी जानकारी विधायक प्रतिनिधि के माध्यम से विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत (Assembly president) तक पहुंची। इस पर उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को जमकर फटकार लगाई। इसके बाद प्रबंधन द्वारा मृतक का शव उसके घर तक भिजवाया गया।

 

यह भी पढ़े : बेटे की मौत के बाद पिता नहीं भर सका बिल तो अस्पताल प्रबंधन ने शव को बना लिया बंधक!


कोरिया जिले के पोड़ी थानांतर्गत ग्राम पंचायत जिल्दा निवासी राहुल विश्वकर्मा (28) के पेट में दर्द की शिकायत होने पर कोरबा जिले के एक बड़े निजी अस्पताल में मंगलवार की सुबह 6 बजे भर्ती कराया गया था। अस्पताल प्रबंधन ने तत्काल 5 हजार रुपए फीस जमा कराया और उसे भर्ती कर दिया।

शाम 7 बजे हालत खराब होने की बात कहकर दवाई व अन्य खर्च के नाम पर 20 हजार रुपए परिजनों से लिया गया था। अस्पताल प्रबंधन ने दो घंटे बाद रात करीब 9 बजे उसे मृत घोषित कर दिया था। मामले में अस्पताल प्रबंधन ने परिजनों से कहा कि बकाया फीस 17 हजार 180 रुपए जमा कर शव को ले जाइए।

 

यह भी पढ़ें : इस दिव्यांग को देखकर कोई नहीं कह सकता कि होगा इतना आशिक मिजाज, लड़कियों के साथ करता था घिनौनी हरकत

 

अस्पताल प्रबंधन ने युवक के इलाज में सुबह 6 से रात 9 बजे तक इलाज करने पर कुल 42 हजार 180 रुपए का बिल बनाया था। मृतक के परिवार की स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से उन्होंने रुपए देने में असमर्थता जताई। परिजनों ने कहा कि हमें यहां से मृतक का शव ले जाने दीजिए और साथ में आप अपने किसी आदमी को भेज दीजिए।

हम गांव पहुंचकर पैसे की व्यवस्था कर आपके आदमी को दे देंगे। बावजूद अस्पताल प्रबंधन ने एक नहीं सुनी और शव को अपने कब्जे में रखा था।

 

यह भी पढ़ें : 2 महिलाएं कर रही थीं ये घिनौना काम, जब पुलिस ने पकड़ा तो ऐसे करती रहीं गुमराह


विस अध्यक्ष की फटकार के बाद गांव भेजा शव
कोरबा के अस्पताल में युवक के शव को बंधक बनाने की जानकारी परिजन ने अपने गांव के सचिन जायसवाल को दी। सचिन ने विधायक प्रतिनिधि राहुल जायसवाल से संपर्क किया था। इसके बाद राहुल ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत को फोन कर वस्तुस्थिति से अवगत कराया।

फिर डॉ. महंत ने अस्पताल प्रबंधन को जमकर फटकार लगाई और शव वाहन व्यवस्था कर मृतक के शव को उसके गांव नहीं भिजवाने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी।

अस्पताल प्रबंधन ने आनन-फानन में शव वाहन से शव को दोपहर करीब 12 बजे उसके गांव रवाना कर दिया। प्राइवेट अस्पताल के चंगुल से शव को छुड़ाने पर ग्रामीणों ने विधायक प्रतिनिधि राहुल एवं विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत का आभार जताया है।

 

कोरिया जिले की क्राइम से संबंधित खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Crime in koria

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned