scriptSky lightning: 3647 houses save from sky lightning in Koria district | छत्तीसगढ़ के इस जिले में 3647 घर आसमानी आफत से सुरक्षित, हर साल होती है दर्जनभर मौतें | Patrika News

छत्तीसगढ़ के इस जिले में 3647 घर आसमानी आफत से सुरक्षित, हर साल होती है दर्जनभर मौतें

Sky Lightning: वनांचल में बारिश के मौसम में गाज (Sky Lightning) गिरने की घटनाएं कम होगी, छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण की सौर सुजला योजना (Solar Sujala scheme) के तहत किया गया है ये उपाय

कोरीया

Published: June 19, 2022 05:46:05 pm

बैकुंठपुर. Sky Lightning: आकाशीय बिजली हर साल दर्जनों लोगों की जानें लेती है। सरगुजा संभाग में हर वर्ष 2 दर्जन से अधिक मौत गाज गिरने से हो जाती है। आकाशीय बिजली से घरों को सुरक्षित रखने शासन स्तर से उपाय किए जा रहे हैं ताकि जनहानि को रोका जा सके। कोरिया जिले के ग्रामीण अंचल में साढ़े 3 साल के भीतर 3 हजार 647 तडि़त चालक (लाइटनिंग रॉड) लगने से आकाशीय बिजली (Sky Lightning) गिरने की घटनाएं कम होगी। छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण की सौर सुजला योजना से लगने वाले सौर पंप में तडि़त चालक लगाया गया है। इससे हितग्राहियों की बाड़ी व घर के आसपास गिरने वाली गाज से सुरक्षा होगी।
sky_lightning.jpg

छत्तीसगढ़ शासन ने जनवरी 2019 से जून 2022 तक छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण (क्रेडा) की मदद से 3 हजार 647 सौर सुजला योजना से सोलर पंप लगवाए हैं। सोलर पंप की खास बात यह है कि सोलर पंप में तडि़त चालक लगाना अनिवार्य है। इसका रेडियस करीब 50 मीटर है।
जो अपनी क्षमता के हिसाब से आसपास आकाशीय बिजली गिरने पर सोलर पंप के साथ घर सुरक्षित होगी। कोरिया वनांचल होने के कारण बारिश के मौसम में आए दिन गाज गिरने की घटनाएं होती है।
इसमें इंसान सहित मवेशियों की मौत होती है। योजना के तहत संभवत: 200 से अधिक गांव में सोलर पंप व तडि़त चालक लगाए गए हैं। हालाकि क्रेडा प्रभारी के पास सौर पंप व तडि़त चालक लगे गांवों का डेटा बताने के लिए समय नहीं हैं।

विस क्षेत्र भरतपुर-सोनहत में लगाए हैं सबसे अधिक
सौर सुजला योजना से कुल 3647 सोलर पंप लगाए गए हैं। जिसमें सबसे अधिक भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र के गांवों में 2542 सोलर पंप लगे हैं। जिससे सोनहत, रामगढ़, नागपुर, केल्कारी, कुंवारपुर, जनकपुर, कोटाडोल क्षेत्र के गांव आकाशीय बिजली से सुरक्षित होगी।
बारिश के मौसम में वनांचल क्षेत्र भरतपुर व सोनहत ब्लॉक में गाज गिरने की अधिक घटनाएं होती है। वहीं बैकुंठपुर विधानसभा क्षेत्र में 570, मनेंद्रगढ़ क्षेत्र में 535 सोलर पंप व तडि़त चालक लगाए गए हैं।
यह भी पढ़ें
शादीशुदा महिलाएं Google पर सबसे ज्यादा ये चीजें करती हैं सर्च, सामने आईं हैरान करने वाली बातें


पिछले साल 13, इस साल 5 मौत और 5 घायल
कोरिया वनांचल होने के कारण बारिश के मौसम में आकाशीय बिजली गिरती है। पिछले साल मई 2021 (बारिश का मौसम) में आकाशीय बिजली गिरने से 13 ग्रामीण की मौत हुई थी। वहीं इस साल 2022 (जून) में घर में आकाशीय बिजली गिरने से 2 बालक-बालिका सहित 5 मौत और 5 बच्चे घायल हो चुके हैं। मामले में राजस्व पुस्तक परिपत्र 6(4) के प्रावधानों के तहत प्राकृतिक आपदा राहत राशि 4-4 लाख रुपए दी गई है।
ऐसे काम करता है तडि़त चालक
के्रडा विभाग के अनुसार तडि़त चालक एक धातु की छड़ है। जिसे सोलर पंप के पास लगाया गया है। जिसकी ऊंचाई करीब 10 फीट बाहर और कुछ हिस्सा जमीन के अंदर गाड़ा गया है। तडि़त चालक का ऊपरी हिस्सा नुकीला है। जो बारिश के मौसम में 50 मीटर सर्कल में आकाशीय बिजली गिरने पर कैच कर लेगा और जमीन के अंदर दफन कर देगा। इससे सोलर पंप प्लेट व आसपास मकान को आकाशीय बिजली से कोई नुकसान नहीं होगा।

विधानसभावार इतने लगे हैं
भरतपुर सोनहत 2542
मनेंद्रगढ़ 535
बैकुंठपुर 570


ब्लॉकवार इतने लगाए गए हैं
ब्लॉक सिस्टम
बैकुंठपुर 403
भरतपुर 1408
सोनहत 851
मनेंद्रगढ़ 303
खडग़वां 682
कुल 3647

यह भी पढ़ें
प्रेमी के साथ भागी 4 बच्चों की मां, दुखी पति ने 2 मासूम बच्चों को जहर देकर की आत्महत्या


तडि़त चालक का रेंज नहीं पता
सौर सुजला योजना से कितने गांवों में पंप व तडि़त चालक लगा है। इसकी जानकारी अभी नहीं दे पाउंगा। सीएम दौरे के बाद फुर्सत से मिलिए, तब डेटा मिलेगा। तडि़त चालक का रेडियस(रेंज) कितना है, इसकी मुझे जानकारी नहीं है। मैं टेक्नीकल स्टाफ से पूछ कर बता पाउंगा।
नारायण उपाध्याय, जिला प्रभारी क्रेडा कोरिया

पंप के साथ तडि़त चालक लगाना अनिवार्य
सौर सुजला योजना से पंप के साथ तडि़त चालक लगाना अनिवार्य है। संभाग में हर सोलर पंप में लगाया जा रहा है। तडि़त चालक की रेडियस करीब 50 मीटर है। बाड़ी या खेत में पंप के साथ तडि़त चालक लगने से 50 मीटर सर्कल को गाज से सुरक्षित करेगा।
एके अग्निहोत्री, सुप्रीटेंडिंग इंजीनियर, छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण अंबिकापुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिंदे गुट के दीपक केसरक का बड़ा बयान, कहा- हमें डिसक्वालीफिकेशन की दी जा रही हैं धमकीMaharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितMaharashtra Political Crisis: आदित्य ठाकरे का बागी विधायकों पर निशाना, कहा- नहीं भूलेंगे विश्वासघात, हमारी जीत तय हैTeesta Setalvad detained: तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात ATS ने लिया हिरासत में, विदेशी फंडिंग पर होगी पूछताछकर्नाटक में पुजारियों ने मंदिर के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, ठगे 20 करोड़ रुपए'अग्निपथ' के विरोध में तेलंगाना के सिकंदराबाद में ट्रेन में आग लगाने वालों की वायरल हो रही वीडियो, पुलिस ने पहचान कर किया गिरफ्तारसावधान! विदेशी शैतानों के निशाने पर हमारी बेटियां... नाबालिग का अपहरण करने कतर से आया था बांदीकुई, दरभंगा से धरा गयाBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.