अनोखी सोच: मां दुर्गा को बनाया डॉक्टर तो महिषासुर को कोरोना, भगवान गणेश बने पुलिस तो...

Unique News: शारदेय नवरात्र (Shardey Navratri) में पंडालों में स्थापित की गई मां दुर्गा समेत अन्य देवी-देवताओं (God-Goddess) की प्रतिमाओं को कोरोना योद्धा (Corona Warriors) का दिया गया है रूप, प्रतिमाओं (Idols) को देखने पहुंच रहे काफी संख्या में लोग, समिति की सोच की कर रहे सराहना

By: rampravesh vishwakarma

Published: 14 Oct 2021, 02:32 PM IST

बैकुंठपुर/मनेंद्रगढ़. (Unique News) पिछले डेढ़ साल में कोरोना ने हर किसी को प्रभावित किया है। इसमें कई लोगों की असमय जान चली गई। डॉक्टरों-नर्सों, पुलिस व अन्य ने कोरोना योद्धा की भूमिका निभाई और कोरोना को मात दिया। केंद्र व राज्य सरकारों द्वारा इन योद्धाओं को प्रथम पंक्ति में रखते हुए सम्मानित भी किया गया।

कई मंचों पर कलाकारों ने भी इनके कामों को जीवंत रूप में प्रस्तुत किया। इसी कड़ी में कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ के पौराधार में मूर्ति कलाकारों ने अनोखी सोच से मां दुर्गा समेत अन्य देवी-देवताओं को कोरोना योद्धा का रूप दिया। इसकी हर तरफ सराहना हो रही है और लोग इन्हें देखने उमड़ रहे हैं।


नवरात्र पर जगह-जगह मां दुर्गा की प्रतिमाएं पंडालों में विराजमान हैं। मनेंद्रगढ़ के पौराधार में भी समितियों द्वारा प्रतिमाएं स्थापित की गई हैं, लेकिन एक समिति ने मूर्ति कलाकार की अनोखी सोच को अपने पंडाल में विराजमान किया है। इसमें मां दुर्गा समेत अन्य देवी-देवताओं को कोरोना योद्धाओं का रूप दिया गया है।

Read More: लाल पत्थर से बनी है इस माता की मूर्ति, दर्शन करने चढऩी पड़ती हैं 600 से अधिक सीढिय़ां


इन देवी-देवताओं को दिया गया रूप
कलाकार द्वारा मां दुर्गा को डॉक्टर के रूप में कोरोना रूपी महिषासुर का वध करते दिखाया गया है। वहीं भगवान गणेश पुलिस के रूप में तो कार्तिकेय फायरब्रिगेड का रूप लिए हुए हैं। देवी रिद्धी को नर्स के रूप में तो सिद्धी को मितानिन का रूप दिया गया है।

Read More: राजनैतिक उथल-पुथल के बीच नवरात्र के पहले दिन स्वास्थ्य मंत्री ने की कुलदेवी की पूजा, मांगी प्रदेश की खुशहाली


हाथों में हथियारों की जगह मास्क-सेनिटाइजर
माता दुर्गा के 10 हाथों में हथियारों की जगह मास्क, सेनिटाइजर, साबुन, ग्लब्स दिया गया है। वहीं कोरोना रूपी महिषासुर का वध सिरिंज रूपी हथियार से किया गया है। भगवान गणेश के एक हाथ में पिस्टल तो दूसरे हाथ में डंडा थमाया गया है।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned