तू मुझे कबूल मैं तुझे कुबूल, इस बात का...

दूर-दराज से आए 197 जोड़ों ने पढ़ा निकाह

 

कोटा.पंचायत अंसारियान समिति की ओर से रविवार को पॉलीटेक्निक कॉलेज मैदान में इज्तेमाई निकाह (Wedding ) सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश समेत विभिन्न स्थानों से आए 197 जोड़ों ने निकाह पढ़ा।शहर काजी अनवार अहमद की सरपरस्ती में 50 नायब काजियों ने दूल्हा दुल्हनों को निकाह पढ़ाया। कार्यक्रम में बड़ी तादात में लोग शामिल हुए। निकाह के लिए दूल्हा दुल्हनों का अलसुबह आने का क्रम शुरू हो गया था। सूट में सजे धजे दूल्हा-दुल्हन परिजनों के साथ निकाह स्थल पर पहुंचे। इसके साथ ही आयोजन स्थल पर रौनक छा गई। जैसे जैसे दूल्हा दुल्हन आते गए, निकाह पढ़ाते गए। दोपहर बाद तक आयोजन चला। समिति के सदर लियाकत हुसैन अंसारी ने बताया कि दूल्हा दुल्हन को आभूषण व घर गृहस्थी के लिए जरूरी सामग्री उपहार स्वरूप भेंट की गई। कार्यक्रम में बिहार में पूर्व राज्य सभा सदस्य अली अनवर अंसररी, छत्तीसगढ़ के पूर्व डीजीपी एम डब्ल्यू अंसार व ऑल इंडिया कॉन्फ्रेंस के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज अहमद अंसारी, पीसीसी सचिव नईमुद्दीनगुड्डू समेत अन्य लोगों ने शिकरत की।कमेटी के सदर लिाकत हुसैन अंसारी,जनरल सेकेट्री अकील हुसैन अंसारी,कोषाध्यक्ष रिजवानउद्दीन अंसारी,जरगाह अहमद, जमील अहमद,जहूर अहमद, सामाजिक कार्यकर्ता उमर सीआईडी समेत अन्य पदाधिकारियों ने अतिथियों का स्वागत किया। इससे पहले शहर काजी अनवार अहमद ने नई जोडिय़ों को ईमान की राह पर चलते हुए जीवन बशर करने के लिए कहा। उन्होंने निकाह का सामाजिक व आध्यात्मिक महत्व भी बताया। आयोजन में दावत के लिए अलग से पांडाल सजाया गया। इसमें दोपहर तक दावत का दौर चलता रहा। आयोजकों के अनुसार 325 कट्टे आटा, 35 कट्टे बेसन, 60 कट्टे शक्कर, 350 टिन तेल व 60 वनस्पति घी के टिनों से दावत तैयार की गई। सदर लियाकत हुसैन के अनुसार 2 हजार कार्यकर्ताओं ने निकाह की व्यवस्थाओं को अंजाम दिया।

READ MORE : कोटा में नगर निगम चुनावों के लेकर आई बड़ी खबर, चुनाव आयोग ने जारी की अधिसूचना


उपहारों की बहार

आयोजकों के अनुसार दूल्हा दुल्हन, प्रति पक्ष से 27 हजार रुपए लिए गए। दूल्हा दुल्हन को फ्रिज, एलर्इी, 51 बर्तन, अटेची, वाशिंग मशीन, रसोई के सामना, दुल्हन के लिए लोंग, पायजेब आदि आभूषण समेत अन्य गृहस्थी के लिए आवश्यक चीजें उपहार स्वरूप भेंट की गई। व्यवस्थाओं के तहत उपहार पूर्व में ही वितरित कर दिए गए।

वृद्धा के घर पेंशन आदेश लेकर पहुंचे कलक्टर, बोले देरी के लिए माफी मांगता हूं


दूर तक रौनक

आयोजन स्थल पर पैर रखेन की जगह नहीं दिखी। कई दुकानदार भी रोजगार की आस में जमा हो गए। सड़कों पर वाहनों की कतारें लग गई। डीसीएम रोड पर बार बार जाम की नौबत आई।

Show More
KR Mundiyar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned