20 हजार की रिश्वत लेते दो एसीटीओ गिरफ्तार

20 हजार की रिश्वत लेते दो एसीटीओ गिरफ्तार

Shailendra Tiwari | Publish: Sep, 05 2018 08:42:48 PM (IST) Kota, Rajasthan, India

वाणिज्यिक कर विभाग में एसीबी की कार्रवाई, फर्म के दो वर्ष का वार्षिक मूल्यांकन की एवज में मांगी थी रिश्वत

रामगंजमंडी. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो स्पेशल यूनिट व कोटा देहात की टीम ने 20 हजार की रिश्वत लेते दो सहायक वाणिज्य कर अधिकारी को गिरफ्तार किया है।

एसीबी की एएसपी डा. प्रेरणा शेखावत ने बताया कि रामगंजमंडी में पूजा पेपर प्लेट फर्म का वाणिज्य कर विभाग में पंजीयन है। वर्ष 15-16 व 16-17 का वार्षिक मूल्यांकन व डिमांड की राशि समायोजित करने की एवज में फर्म के मालिक विकास कुमार गर्ग से सहायक वाणिज्य कर अधिकारी प्रीतम कुमार शर्मा व भगवान सहाय मीणा ने 40 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी, जिसकी शिकायत 31 अगस्त को गर्ग ने ब्यूरो कार्यालय में की थी। शिकायत के सत्यापन के बाद बुधवार को ट्रेप कार्रवाई को अंजाम दिया गया।

विकास गर्ग ने बताया कि दोनों एसीटीओ ने प्रति वर्ष 20 हजार के हिसाब से 40 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। अधिकारी राशि का तकाजा लेकर दुकान पर भी आए तथा सात दिन तक फोन भी किया। बाद में 20 हजार में बात तय हुई। एएसपी ने बताया कि रिश्वत प्रकरण में एक कर्मचारी की भूमिका संदिग्ध मिली है, जिसकी जांच की जा रही है।

हाथ नहीं आए फायरिंग के आरोपी

कोटा. नयापुरा थाना क्षेत्र में मंगलवार शाम को प्रोपर्टी डीलर पर फायरिंग के आरोपी दूसरे दिन भी पुलिस के हाथ नहीं आए। पुलिस नाकाबंदी करने व चार टीमें गठित कर संभावित ठिकानों पर दबिश देने के बाद किसी आरोपी को नहीं पकड़ सकी। गौरतलब है कि नाग नागिन मंदिर के निकट मंगलवार शाम को दो एसयूवी कारों में आए हमलावरों ने अश्वनी उर्फ गोल्डी पर फायरिंग कर दी थी। घटना के बाद वे उसे मरा हुआ समझकर छोड़ गए। सरेआम फायरिंग से आसपास के दुकानदार और रहवासियों में अब भी दहशत है।
जानलेवा हमले का मामला दर्ज

पुलिस ने इस मामले में मंगलवार देर रात को असलम उर्फ चिंटू, दानिश, बारां निवासी अनिल शर्मा, अख्तर, जुनैद समेत करीब डेढ़ दर्जन लोगों के खिलाफ जानलेवा हमले का मामला दर्ज किया। घटना के बाद पुलिस ने हमलावरों को तलाशने के लिए चार टीमों का गठन किया। जो अलग-अलग क्षेत्र में आरोपियों की तलाश के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही हैं।

Prev Page 1 of 2 Next

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned