ढाई करोड़ का गबन करने वाला कैशियर गिरफ्तार

खैराबाद ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में किया था गबन

By: Ranjeet singh solanki

Updated: 10 Apr 2021, 08:42 PM IST

कोटा। जिला पुलिस की विशेष टीम ने गुरुवार को चार साल से गबन मामले में फरार चल रहे बीईईओ कार्यालय खैराबाद के तत्कालीन केशियर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक कोटा ग्रामीण शरद चौधरी ने बताया कि खैराबाद स्थित बीईईओ कार्यालय में पद स्थापित रहते हुए ढाई करोड़ रुपए के गबन के मामले में 4 वर्षों से फरार चल रहे प्रकरण के मास्टरमाइंड व 5000 के इनामी अपराधी केशियर गिरिराज वर्मा को जिला विशेष टीम ने ढाबादेह से गिरफ्तार किया। वर्ष 2017 में 2 जनवरी को ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी प्रहलाद राय द्वारा दर्ज रिपोर्ट में बताया गया था कि स्थानीय कार्यालय में कार्यरत केशियर गिरिराज वर्मा ने अपने नजदीकी व्यक्तियों को व्यक्तिगत लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से षड्यंत्र पूर्वक स्थानीय कार्यालय की बैंक खाते से कुल 76 लाख 26 हजार 267 रुपए की राशि की हेरा फेरी कर अनजान व्यक्तियों और अनजान फर्मों के बैंक खातों में जमा करवा कर राजकीय राशि का दुरुपयोग किया। ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय खैराबाद द्वारा संचालित बचत खाते पर 29 जनवरी 2014 से 31 मार्च 2016 के मध्य जारी समस्त चेकों की बैंक से प्राप्त डिटेल व अन्य उपलब्ध रिकॉर्ड के अनुसार तत्कालीन बीईईओ खैराबाद एवं उसके पश्चात रामेश्वर मेघ एवं रोकड़ पाल गिरिराज वर्मा वरिष्ठ लिपिक द्वारा चेकों की भारी मात्रा में राशि बिना किसी बिल, वाउचर या आधार के अलग-अलग फर्म और कर्मचारियों तथा अन्य व्यक्तियों के खाते में स्थानांतरित कर समस्त वित्तीय नियमों का खुला उल्लंघन करते हुए कुल 2 करोड़ 36 लाख 73602 रुपए की राजकीय राशि का गबन कर सरकार को हानि पहुंचाई थी। अपराधी ने गबन राशि से कोटा में आलीशान मकान व कार खरीदी । पुलिस ने धारा 420, 409 भारतीय दंड संहिता प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ किया। मुख्य अपराधी गिरिराज की पत्नी सहित कुल 10 आरोपियों को पूर्व में गिरफ्तार भी किया, लेकिन मामले का मुख्य आरोपी गिरिराज वर्मा फरार हो गया था।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned