बारां से एपीओ जिला कलक्टर राव एक दिन के रिमाण्ड पर

- 1.40 लाख की घूस के मामले में गिरफ्तार राव को डीजे कोर्ट में किया पेश

By: Ranjeet singh solanki

Updated: 24 Dec 2020, 06:31 PM IST

कोटा. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) जयपुर की विशेष टीम ने गुरुवार को 1.40 लाख की रिश्वत मामले में गिरफ्तार बारां से एपीओ किए गए जिला कलटर व आईएएस अधिकारी इन्द्रसिंह राव को जिला एवं सेशन न्यायालय में पेश किया, जहां एक दिन के रिमाण्ड पर सौंप दिया है। एसीबी टीम कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच दोपहर 3.30 बजे राव को पेशी के लिए लेकर आई। न्यायाधीश ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद आरोपी राव को एक दिन के रिमाण्ड पर सौंप दिया है। एसीबी ने न्यायालय में रिमाण्ड के पक्ष में तर्क दिया कि अभियुक्त अनुसंधान में अपेक्षित सहयोग नहीं कर रहा है। बाद में एसीबी के अधिकारी राव को लेकर एसीबी चौकी लेकर पहुंचे और पूछताछ शुरू कर दी है। राव जब बारां कलक्टर थे, तब हमेशा सीना ताने चलते थे, लेकिन गुरुवार को जब एसीबी द्वारा कोर्ट में पेश किया गया तो चेहरे पर उदासी थी। अदालत में चारों और मीडियाकर्मी और कैमरा देखकर राव ने गर्दन नीचे कर ली। पत्रकारों के किसी भी सवाल का राव ने कोई जवाब नहीं दिया। वे बिना उत्तर दिए एसीबी की गाड़ी में बैठ गए। एसीबी जयपुर की स्पेशल सेल के प्रभारी व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सी.पी. शर्मा ने कहा कि राव की सम्पत्तियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही और अनुसंधान किया जा रहा है।

यह है मामला

राव के विरुद्ध रिश्वत के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया था। पीए महावीर नागर ने पूछताछ में कलक्टर के लिए रिश्वत लेना कबूल किया था। जांच में तत्कालीन बारां कलक्टर रहे राव की संलिप्तता के कई अहम सबूत मिले थे। पीए ने कलक्टर ने पूछताछ में स्पष्ट कहा था कि 1.40 लाख की घूस ली है। इसमें एक लाख कलक्टर के और 40 हजार रुपए पीए के थे। एसीबी ने कलक्टर कार्यालय कक्ष, पीए कक्ष व राजस्व शाखा में कई फ ाइलों को खंगाला गया। उन फ ाइलों को कब्जे में लिया, जिससे रिश्वत के मामले की जांच को सही दिशा मिल सके। पीए महावीर नागर फिलहाल जेल में ही है।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned