एसीबी ने 100 की स्पीड़ में दौड़ाई गाड़ी, 12 किमी पीछा कर घूसखोरों को पकड़ा

एसीबी झालावाड़ की टीम को सुकेत के ग्राम विकास अधिकारी महिपालसिंह व दोनों वार्ड पंचों को घूस लेते हुए गिरफ्तार करने में पसीना आ गया

By: Ranjeet singh solanki

Updated: 20 Jan 2021, 11:18 PM IST

कोटा. एसीबी झालावाड़ की टीम को सुकेत के ग्राम विकास अधिकारी महिपालसिंह व दोनों वार्ड पंचों को घूस लेते हुए गिरफ्तार करने में पसीना आ गया। बुधवार को सुकेत ग्राम पंचायत के ग्राम विकास अधिकारी महिपालसिंह, वार्ड पंच मोहम्मद रफसंजानी, अब्दुल इस्लाम तथा एक अन्य वकार अहमद को 18 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। आरोपियों ने ग्राम पंचायत की ओर से पट्टे जारी करने की ऐवज में घूस मांगी थी। परिवादी सत्यनारायण योगी ने मंगलवार को एसीबी में परिवाद दिया था कि उसकी पत्नी संजू बाई वार्ड पंच है और वार्डवासियों के 12 पट्टे देने के एवज में ग्राम विकास अधिकारी महिपालसिंह की ओर से प्रति पट्टे के हिसाब से पांच हजार रुपए कुल 60 हजार रुपए की घूस मांगी गई है। बाद में 4500 रुपए प्रति पट्टा देना तय हुआ, जिसमें से 36 हजार रुपए टे्रप से पहले लिए। बकाया राशि 18 हजार रुपए परिवादी सत्यनारायण योगी से ली। एसीबी द्वारा ट्रेप की भनक लगने पर आरोपी महिपाल आवास के बाहर कार में बैठे अब्दुल इस्लाम की कार से फरार हो गए। टीम ने अपनी जान जोखिम में डालकर घूसखोरों को दबोचा। कार्रवाई की भनक लगते ही कार में बैठकर तीनों आरोपी फरार हो गए। आगे आरोपियों की कार दौड़ती रही और पीछे एसीबी पीछा कर रही थी। एसीबी टीम ने 100 की स्पीड़ से गाड़ी को दौड़ाकर करीब 12 किलोमीटर पीछा कर आरोपियों को दबोच लिया। एसीबी के अधिकारियों का कहना है कि ग्राम विकास अधिकारी मौका देखकर फरार होना चाहता था, इस कारण उसने एक घुमाव पर कार से उतर कर खेतों में भागने की कोशिश की, लेकिन एसीबी की गाड़ी देखकर फिर कार में बैठ कर भाग गया। आरोपी अपनी कार को सुकेत की तंग गलियों में ले गए। यहां से पैदल-पैदल अलग-अलग दिशाओं में भाग गए। एसीबी टीम ने सुकेत में कार मालिक समेत चारों को दबोच लिया और फिर रामगंजमंडी थाने ले गए। यहां देर रात तक कार्रवाई जारी थी। आरोपी महिपाल रामगंजमंडी में अपने आवास मारुति नगर में घूस ले रहा था। इस दौरान वकार अहमद नाम का व्यक्ति कार में बैठा था। इस कार में दोनों वार्ड पंच भी बैठे थे।

पट्टे चाहिए तो 4500 रुपए से कम नहीं काम नहीं चलेगा

फरियादी ने शिकायत में कहा था कि ग्राम विकास अधिकारी एक पट्टे के लिए 4500 रुपए से कम लेने को तैयार नहीं है। आरोपी ने स्पष्ट कह दिया कि था कि पट्टे लेना है तो इससे कम में काम नहीं होगा। चाहे किसी की भी सिफारिश करवा लेना। ग्राम विकास अधिकारी महिपाल कोटा छावनी चौराहा बस स्टैण्ड का रहने वाला है। शेष तीनों आरोपी सुकेत निवासी हैं।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned