वन्यभूमि पर व्यवसाय करना पड़ा भारी, काट दिए बिजली के कनेक्शन

विद्युत वितरण निगम के अधिकारियों ने प्रतिष्ठान मालिकों को नोटिस देकर प्रतिष्ठान संंबंधी दस्तावेज जमा कराने को कहा है। यदि पूर्व में नगर पालिका ने कोई एनओसी जारी की है तो उसे भी जमा कराने को कहा था। उक्त नोटिस 31 मार्च को दिया था

By: Dilip

Published: 21 May 2020, 10:18 PM IST

रावतभाटा. वन्यभूमि पर प्रतिष्ठान बनाकर व्यापार करना 15 व्यवसायियों को भारी पड़ा गया। उक्त प्रतिष्ठानों के विद्युत वितरण निगम की ओर से बिजली के कनेक्शन काट दिए। इसमें रेस्टोरेंट, शोरूम, गैराज सहित अन्य प्रतिष्ठान शामिल हैं।
कोटा बेरियर के समक्ष स्थित पेट्रोल पम्प के सामने वाली जमीन एनजीटी में आती है। इस संंबंध में नगर पालिका की ओर से पत्र लिखकर निगम को अवगत कराया गया था। निगम ने मामले को गंभीरता से लिया था। ऐसे में विद्युत वितरण निगम के अधिकारियों ने प्रतिष्ठान मालिकों को नोटिस देकर प्रतिष्ठान संंबंधी दस्तावेज जमा कराने को कहा है। यदि पूर्व में नगर पालिका ने कोई एनओसी जारी की है तो उसे भी जमा कराने को कहा था। उक्त नोटिस 31 मार्च को दिया था लेकिन एक भी प्रतिष्ठान मालिक ने सही व पूरे दस्तावेज को जमा नहीं कराया। आखिर में उनके कनेक्शन काट दिए गए। अधिकारियों का कहना है कि वन्यभूमि पर बिना नगर पालिका की स्वीकृति के प्रतिष्ठान बनाकर व्यवसाय करना गलत है। इसी को ध्यान में रखते हुए कार्रवाई की गई है।
लॉकडाउन के चक्कर में नहीं हुई कार्रवाई
कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन चल रहा था। राज्य सरकार ने 31 मई से पहले कोई भी कार्रवाई करने से मना कर रखा था। इसी कारण ही कार्रवाई में देरी हो गई। टीम गुरुवार को मौके पर गई। यहां पर उनसे पुन: दस्तावेज मांगे गए लेकिन उन्होंने कोई संतोषप्रद जवाब नहीं दिया। न ही कोई जमीन या प्रतिष्ठान संबंधी दस्तावेज दिखाए। ऐसे में उनके कनेक्शन काट दिए। हालांकि दुकानदारों ने कनेक्शन नहीं करने के लिए मिन्नतें भी की लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई। उनके कनेक्शन काट ही दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned