छात्रा के बाद परीक्षा केन्द्र प्रभारी भी कोरोना पॉजिटिव

कोटा. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं व 12वीं की परीक्षा में छात्रा व केन्द्र प्रभारी शिक्षिका कोरोना पॉजिटिव आ गई। शिक्षिक सीएमएचओ कार्यालय भी गई थी। शिक्षिका की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से चिकित्सा विभाग के ऑफिस में भी हड़कम्प मच गया। आनन-फानन में कार्यालय को रात को सेनेटाइज करवाया।

 

 

By: Abhishek Gupta

Published: 01 Jul 2020, 01:51 PM IST

कोटा. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं व 12वीं की परीक्षा में छात्रा व केन्द्र प्रभारी शिक्षिका कोरोना पॉजिटिव आ गई। शिक्षिक सीएमएचओ कार्यालय भी गई थी। शिक्षिका की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से चिकित्सा विभाग के ऑफिस में भी हड़कम्प मच गया। आनन-फानन में कार्यालय को रात को सेनेटाइज करवाया। दरअसल, लाडपुर राउप्रावि की शिक्षिका की कोटा के तलवंडी स्थित एक निजी स्कू  ल केन्द्र पर 12वीं बोर्ड परीक्षा प्रभारी के रुप में ड्यूटी लगी हुई थी। इस केन्द्र पर शनिवार को एक वीक्षक कोरोना पॉजिटिव आया था। उसके बाद चिकित्सा विभाग ने 23 शिक्षकों की सेम्पलिंग की थी। उसके बाद इन शिक्षकों को क्वारंटाइन के लिए निर्देशित किया था। सूत्रों ने बताया कि शिक्षिका मंगलवार शाम को कुछ शिक्षकों के साथ विद्यालय संचालन अनुमति आदेश लेने पहुंच गई। मेडिकल कॉलेज ने शिक्षिका की शाम 4.30 बजे पॉजिटिव रिपोर्ट जारी की दी। उस समय सीएमएचओ कार्यालय में थी। वह कुछ देर सीएमएचओ ऑफिस भी रुकी। वह कुछ डॉक्टरों से भी मिली थी। गेट के बाहर सीएमएचओ से भी मिली, लेकिन दूर से ही उसे रवाना कर दिया। शिक्षिका की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद चिकित्सा विभाग के ऑफिस में हड़कम्प मच गया। रात को ही पूरे ऑफिस को सेनेटाइज करवाया।

- लापरवाही या चूक!
सीएमएचओ कार्यालय ने डीईओ कार्यालय को जारी एक आदेश में लिखा है कि केन्द्र पर शनिवार को पॉजिटिव आए एक वीक्षक के सम्पर्क में आने वाले सभी व्यक्तियों की रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है। साथ्ज्ञ ही विद्यालय को सेनेटाइज करवा दिया। विद्यालय का संचालन करने व परीक्षा केन्द्र पर ड्यूटी पर कार्यरत कार्मिकों को मुख्यालय पर ड्यूटी करने की अनुमति प्रदान की जाती है।

- इनका यह कहना
सीएमएचओ डॉ. बी.एस. तंवर ने बताया कि शिक्षिका उनसे मिली थी, लेकिन उन्होंने दूर से उसे रवाना कर दिया। मैंने डीईओ कार्यालय को उन शिक्षिकों को अनुमति प्रदान करने का आदेश दिया था, जो नेगेटिव आ चुके है। इस शिक्षका की रिपोर्ट आना बाकी थी। शिक्षिका होम क्वारंटाइन थी। यह शिक्षिका रिपोर्ट आने से पहले होम क्वांटाइन से बाहर कैसे आई। एफआईआर पर विचार करेंगे। शाम को संशोधित आदेश जारी कर इस शिक्षिका के सम्पर्क में आने वाले शिक्षकों को क्वारंटाइन किया जाएगा। विभाग से हम लाइन लिस्टिंग लेते उससे पहले शिक्षिका पॉजिटिव आ गई।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned