कोटा विवि में चलेगा आनंदम् व ड्राइंग-पेन्टिग का कोर्स

कोटा. कोटा विश्वविद्यालय में मंगलवा को एकेडमिक काउंसलिंग की बैठक ऑनलाइन आयोजित की गई। बैठक में आनंदम् कोर्स व ड्राइंग व पेन्टिग कोर्स समेत अन्य प्रस्तावों को चलाने की हरी झंडी मिल गई।

 

By: Abhishek Gupta

Published: 26 Aug 2020, 05:54 PM IST

एकेडमिक काउंसलिंग की बैठक में कई प्रस्तावों को मिली हरी झंडी
एमकॉम बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन व इकोनॉमिक्स के मांगे प्रस्ताव

कोटा. कोटा विश्वविद्यालय में एकेडमिक काउंसलिंग की बैठक ऑनलाइन आयोजित की गई। बैठक में आनंदम् कोर्स व ड्राइंग व पेन्टिग कोर्स समेत अन्य प्रस्तावों को चलाने की हरी झंडी मिल गई।कोटा. कोटा विश्वविद्यालय में मंगलवा को एकेडमिक काउंसलिंग की बैठक ऑनलाइन आयोजित की गई। बैठक में आनंदम् कोर्स व ड्राइंग व पेन्टिग कोर्स समेत अन्य प्रस्तावों को चलाने की हरी झंडी मिल गई। बैठक में राज्य सरकार की ओर आन्दम् कोर्स को संचालित करने का प्रस्ताव रखा। जिसमें सदस्यों ने सहमति प्रदान की।

इसका मुख्य उद्देश्य शिक्षा के साथ विद्यार्थियों को कम्यूनिटी से जोड़कर सेवा प्रदान करनी है। इसमें विद्यार्थियों को ग्रुप में सोश्यल वर्क करना होगा। इसके लिए बकायदा रजिस्टर्ड बनाना होगा। शिक्षक हर महिने से चेक करेंगे। उसे हर छह माह में रिपोर्ट करना होगा। उसके बकायदा पेपर भी होंगे।

उच्च शिक्षा सचिव शुचि शर्मा व संयुक्त सचिव मोहम्मद नईम ने इसकी पूरी रुपरेखा बताई। पाठ्य निर्माण समिति की ओर से शोध मंडल व अन्य कुछ विषयों में गाइड लाइन के अनुसार बदलाव हुए है। उनके मिनिट्स भी बैठक में रखे गए।

उच्च शिक्षा सचिव ने प्रथम व द्वितीय वर्ष के सभी विद्यार्थियों को अगली कक्षाओं में प्रमोट करने की सहमति दे दी। जबकि फाइनल ईयर के मामले में उन्होंने कहा कि यह मामला विचाराधीन है। सरकार के निर्णय के बाद ही आगे फैसला लिया जाएगा। इसके अलावा कोटा विवि में एमए पीजी में ड्राइंग व पेन्टिंग का कॉर्स चलाने का प्रस्ताव रखा। सदस्यों ने इसकी भी स्वीकृति प्रदान कर दी।

उठे मुद्दे, जताई नाराजगी

एकेडमिक काउंसिल के सदस्य व अर्थशास्त्री डॉ. गोपाल सिंह व एमकॉम प्रभारी एके जैन ने कोटा विवि के स्थापना के बाद से ही अब तक एमकॉम बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन व इकोनॉमिक्स विषयों के चालू नहीं होने का मुद्दा उठाया। इस पर कुलपति प्रो. नीलिमा सिंह ने कहा कि उनके पास एेसे कोई प्रस्ताव नहीं आए। कुलपति ने डीन को प्रस्ताव बनाकर भिजवाने के निर्देश दिए।

डिजिटल स्टूडियो खोले

अर्थशास्त्री डॉ. गोपाल सिंह ने कहा कि प्रदेश में सभी विवि के अपने डिजिटल स्टूडियो है। कोटा विवि को अपना खुद का एक डिजिटल स्टूडियो खोला जाना चाहिए। इससे कोरोना काल में विद्यार्थियों को वीडियो लेक्चर से घर बैठे पढ़ाई का मौका मिल सके। इससे बाहर के कई विषय विशेषज्ञों के लेक्चर भी उन्हें पढऩे को मिल सकेंगे। बैठक में कुलसचिव प्रो. आर.के. उपाध्याय, कपिल देव शर्मा, समेत करीब ३२ सदस्य उपस्थित रहे।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned