scriptAnger among doctors, boycott of services, show solidarity | चिकित्सकाें में आक्रोश, सेवाओं का बहिष्कार, एकजुटता दिखाई | Patrika News

चिकित्सकाें में आक्रोश, सेवाओं का बहिष्कार, एकजुटता दिखाई

अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के आह्वान पर सेवारत चिकित्सकों ने 2 घंटे कार्य बहिष्कार कर विरोध-प्रदर्शन किया।

 

 

कोटा

Updated: March 31, 2022 08:46:28 am

कोटा. दौसा जिले के लालसोट में महिला चिकित्सक के आत्महत्या करने के बाद कोटा में भी चिकित्सकों ने कड़ा आक्रोश प्रकट किया। उन्होंने चिकित्सा सेवाओं का बहिष्कार किया। इसका असर मेडिकल कॉलेज के अस्पताल, अन्य सरकारी अस्पताल और निजी अस्पतालों में देखा गया। रोगियों को परेशानी उठानी पड़ी। चिकित्सकों का कहना है कि चिकित्सक को आत्महत्या के लिए मजबूर किया गया। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। इस घटना से व्यथित सरकारी और निजी चिकित्सकों ने एकजुट होकर विरोध किया। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल संभागीय आयुक्त दीपक नंदी से मिला। उन्हें सीएम के नाम दिए ज्ञापन के माध्यम से बताया कि 28 मार्च को लालसोट के निजी अस्पताल में प्रसूता की मौत होने के बाद कुछ लोगों ने अस्पताल का घेराव किया। इसके साथ ही स्थानीय नेताओं ने बिना मामले की पूरी जानकारी लिए ही भीड़ जुटाकर पुलिस पर दबाव बनाया। इससे आहत होकर डॉ. अर्चना शर्मा ने 29 मार्च को आत्महत्या कर ली। इस मामले को लेकर चिकित्सकों में गहरा आक्रोश है। एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा कि हर बीमारी चाहे वह साधारण हो अथवा गंभीर, उसकी अपनी जटिलता होती है। जिसके इलाज के लिए एवं मरीज की जान बचाने के लिए एक चिकित्सक अपनी पूरी कोशिश करता है, लेकिन उसकी भी अपनी क्षमताएं होती हैं। किसी भी मरीज को बचाने की शत-प्रतिशत गारंटी कोई भी चिकित्सक नहीं देता। आईएमए सचिव डॉ. अमित व्यास ने बताया कि बिना किसी जांच-पड़ताल के डॉ. अर्चना शर्मा पर आईपीसी की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज करने वाले पुलिस अधिकारियों एवं जिन्होंने अस्पताल का घेराव किया उनके खिलाफ सख्त एक्शन होना चाहिए। इस अवसर पर अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के प्रदेश महासचिव डॉ. दुर्गाशंकर सैनी, डॉ. अमित गोयल, डॉ. के.के. पारीक, डॉ. गिरीश माथुर, डॉ. एस.के. गोयल, डॉ. अशोक जैन, डॉ. अशोक शर्मा, डॉ. एम.एल. अग्रवाल, डॉ. एस सान्याल, डॉ. राकेश जिंदल, डॉ. अखिल अग्रवाल सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।
doctrsss.jpg
चिकित्सा सेवाओं का किया बहिष्कार
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन राजस्थान ने (आईएमए) ने 24 घंटे अस्पताल बन्द करने का ऐलान किया। इससे ओपीडी में आने वाले मरीज परेशान रहे। अस्पताल में पहले से भर्ती मरीजों को ही देखा गया। आईएमए राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अशोक शारदा ने बताया कि बुधवार सुबह 6 बजे से गुरुवार सुबह 6 बजे तक प्रदेश के सभी अस्पताल बन्द रहे। इमरजेंसी सेवा भी बन्द रखी गई। कोटा में करीब 150 अस्पताल हैं। जिन्होंने ओपीडी व इमरजेंसी सेवा बन्द रखी। प्रसूता की दुखद मौत एक मेडिकल एक्सीडेंट है। पुलिस प्रशासन ने प्रोटेक्शन देने के बजाय डॉक्टर पर गलत धाराओं में मामला दर्ज किया। इसी कारण उसे आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ा। दिवंगत डॉ. अर्चना शर्मा के दोषियों पर 302 में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग पूरे राज्य में की जा रही है।
सेवारत चिकित्सकों ने 2 घंटे कार्य बहिष्कार किया
अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ के आह्वान पर सेवारत चिकित्सकों ने 2 घंटे कार्य बहिष्कार कर विरोध-प्रदर्शन किया। सभी सीएचसी, पीएचसी और मेडिकल कॉलेज अस्पताल में श्रद्धांजलि दी गई। संभागीय आयुक्त, जिला कलक्टर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को ज्ञापन देकर मानसिक प्रताड़ना करने वाले दोषियों के खिलाफ 302 में मुकदमा दर्ज कर तत्काल गिरफ्तारी की मांग की। दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई करने पर जोर दिया। सेवारत चिकित्सक संघ के प्रदेश महासचिव डॉ. दुर्गाशंकर सैनी ने बताया कि डॉ. अर्चना शर्मा का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। कोटा सेवारत चिकित्सक संघ के अध्यक्ष डॉ. अमित गोयल ने बताया कि सभी अस्पतालों के डॉक्टरों ने प्रदर्शन किया। डॉ. हेमंत गुप्ता, डॉ. कुलदीप राणा, डॉ. मुकेश मालव, डॉ. खरोलीवाल, डॉ. ज्ञानसिंह चौधरी, डॉ. राकेश, डॉ. नीरू सिसोदिया, डॉ. राजीव मीणा, डॉ. अमित जोशी, डॉ. अमित यादव, डॉ. विजय, डॉ. जितेंद्र डंग सहित सभी चिकित्सक उपस्थित रहे।
डॉक्टर बोले, गलत दर्ज हुई एफआईआर
चिकित्सकों ने दिवगंत डॉक्टर के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा, सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार जब भी किसी अस्पताल में किसी मरीज की संदिग्ध अवस्था में मौत होती है तो विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम गठित करके जांच की जाती है। उसके बाद अगर कमेटी को प्रथम दृष्टया मेडिकल नेगलिजेंस प्रतीत होती है, तब रिपोर्ट के आधार पर संबंधित अस्पताल अथवा चिकित्सक के खिलाफ नोटिस जारी करके आगे की कार्रवाई की जाती है। इस प्रकरण में राजनीतिक दबाव में आकर बिना किसी जांच के पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 में डॉ. अर्चना शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।
चिकित्सकों ने ये मांगें उठाई
- डॉक्टर अर्चना शर्मा और डॉ. सुनीत उपाध्याय पर धारा 302 लगाने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई हो। उनके खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया जाए।
- शव को अस्पताल वापस लाने वाले लोगों की पहचान करके उन्हें गिरफ्तार किया जाए।
- जेकब मैथ्यू केस मामले में सुप्रीम कोर्ट की ओर से दिए गए आदेश की पालना कराई जाए। इसको लेकर नई एसओपी जारी की जाए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Udaipur Murder: कन्हैया के परिवार को 31 लाख मुआवजे का ऐलान, आतंकी हमले की आशंका से केंद्र ने Rajasthan भेजी NIA की टीमएसआइटी जांच,  एक माह तक धारा 144, 24 घंटे इंटरनेट बंदUdaipur Murder Case: पूरे देश में तनाव का माहौल, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा- CM Ashok Gehlot, देखें Video...Maharashtra Political Crisis: देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से की मुलाकात, जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराने की मांग कीदिल्ली के मंगोलपुरी में फैक्ट्री में लगी आग, दमकल की 26 गाड़ियां मौके परन्यायाधीश ने दो घंटे मोबाइल की टॉर्च की रोशनी में की सुनवाईटीम इंडिया ने आयरलैंड का सपना तोड़ा, दूसरे टी-20 में 4 रन से हराकर सीरीज में किया क्लीन स्वीपदीपक हुडा ने टी-20 इंटरनेशनल करियर का लगाया पहला शतक, आयरलैंड के गेंदबाजों की उड़ाई धज्जियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.