कोटा विश्वविद्यालय में आर्यभट्ट अकादमिक भवन अधिग्रहित

कोविड मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या के कारण अस्पताल में बेड मिलना मुश्किल होता जा रहा है। हालातों से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने कोटा विश्वविद्यालय में कोविड केयर सेंटर बनाया है।

 

By: Abhishek Gupta

Published: 22 Apr 2021, 01:12 PM IST

कोटा. कोविड मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या के कारण अस्पताल में बेड मिलना मुश्किल होता जा रहा है। हालातों से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने कोटा विश्वविद्यालय में कोविड केयर सेंटर बनाया है। कलक्टर ने कोटा विश्वविद्यालय के नवनिर्मित आर्यभट्ट अकादमिक भवन-2 को कोविड सेंटर के लिए अधिग्रहित करने के आदेश जारी किए है।
कलेक्टर ने ऑक्सीजन बढ़ती मांग को देखते हुए लिए 3 सदस्य कमेटी बनाई है। ये कमेटी सरकारी व निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन उपलब्धताए डिमांड व खपत की समीक्षा व ऑडिट करेगी। मरीजों को समुचित ऑक्सीजन उपलब्धता की मॉनिटरिंग करेगी। कमेटी में अतिरिक्तजिला कलक्टर अध्यक्ष व सहायक औषधि नियंत्रक व वरिष्ठ क्षेत्रीय प्रबंधक रीको सदस्य होंगे।वहीं निजी व सरकारी अस्पतालों में मरीजों को बेड उपलब्ध कराने के लिए तीन सदस्य जिला स्तरीय टीम का गठन किया है। टीम में अध्यक्ष के रूप में अतिरिक्त जिला कलक्टर सीलिंग, सदस्य के रूप में डिप्टी सीएमएचओ, मुख्य आयोजन अधिकारी को शामिल किया है। ये कमेटी जिले के अस्पतालों में बेड की उपलब्धता, डिमांड व खपत की समीक्षा व ऑडिट करेगी।

- असंक्रमित की यहां होगी सेम्पलिंग
असंक्रमित व्यक्तियों की सेम्पलिंग के लिए बनाए गए तीन कोविड-19 रेण्डम सैम्पलिंग सेंटरकोटा. कोटा शहर में असंक्रमित मरीजों की सेम्पलिंग के लिए तीन चिकित्सा संस्थान शहरी सीएचसी दादाबाड़ी, विज्ञाननगर व महावीर नगर को कोविड-19 रेन्डम सेम्पलिंग सेंटर बनाया गया है। जहां पर शाम 4 बजे से शाम 7 बजे तक ऐसे लोगों की सेम्पलिंग पृथक से की जाएगी, जिनकी खांसी, जुकाम व बुखार या अन्य कोई लक्षण न हो, ताकि ऐसे व्यक्ति कोविड-19 के लक्षणों वाले रोगियों के सम्पर्क में न आ सके। उन्हें संक्रमित होने का खतरा न हो।

Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned