Ayodhya verdict : ऐतिहासिक फैसले से पहले कोटा में कड़ी सुरक्षा, सोशल मीडिया पर पैनी नजर, धारा 144 लागू

Ayodhya verdict, section 144, Internet ban: अयोध्या पर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले ( Ayodhya verdict ) के मद्देनजर कोटा में प्रशासन और पुलिस ने सतर्कता बढ़ा दी है।

Zuber Khan

November, 0910:26 AM

कोटा. श्रीराम जन्मभूमि को लेकर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला ( Ayodhya verdict ) शनिवार को आना प्रस्तावित है। इसको लेकर प्रशासन और पुलिस ने शहर में सतर्कता बढ़ा दी है। ( section 144 imposed in Rajasthan ) शहर के चौराहे, बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर सुरक्षा बल तैनात किया गया है। सोशल मीडिया ( social media ) की कड़ी निगरानी की जा रही है। जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक ने सभी से सद्भाव बनाए रखने की अपील की हैं। धर्म गुरु और प्रतिनिधियों ने भी सद्भाव बनाए रखते न्यायालय के फैसले का सम्मान करने की अपील की है। शहर में सद्भाव और शांति बनाए रखने के लिए सभी एकमत हैं।

Read More: दर्दनाक : कोटा में सोयाबीन से भरे ट्रक में लगी भीषण आग, 3 साल का मासूम जला, बेटे की हालत देख बेहोश हुआ पिता

कलक्ट्रेट स्थित टैगोर सभागार में शुक्रवार को शांतिसमिति की बैठक हुई। इसमें प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कलक्टर ओम कसेरा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या मामले दिए जाने वाले फैसले को हम सभी को स्वीकार करना है। ये हमारी जिम्मेदारी है कि हम हर कीमत पर सामाजिक सौहाद्र्र बनाए रखें। उन्होंने कहा कि संविधान हमारे लिए सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि हमारी ताकत आप सब लोग हैं, आपको सैनिक के रूप में काम करना है। उन्होंने कहा कि जिस जिले के नागरिक प्रगतिवादी व सकारात्मक सोच के होते हैं, निश्चित रूप से वह जिला प्रगति के पथ पर तेजी से बढ़ता है।

फैसले का करें सम्मान

आपसी सद्भाव बनाए रखना है। भ्रामक बातों पर ध्यान नहीं देना है। सभी कोर्ट का सम्मान करते हैं, ऐसे में जो भी फैसला आए, वह सभी को स्वीकार्य होगा।
डॉ. सुधीर गुप्ता

सभी आपसी भाईचारा और प्रेम बनाए रखें। इस बात का ध्यान रखें कि किसी भी कारण से किसी को कोई परेशानी नहीं हो। सब एक दूसरे का सहयोग करें।
डॉ. जफर मोहम्मद

Read More: 'वो दवा' बेचने के लिए झोलाछाप डॉक्टर खरीदते हैं लाखों की तादात में कैप्सूल के खाली खोल

हम हमेशा कोर्ट के फैसले का सम्मान करते आए हैं, इस बार भी वही होगा। इसे लेकर चिंता करने जैसी कोई बात
नहीं है। शहर में सभी समझदार हैं।

डॉ. यूनूस अंसारी

आपसी भाईचारा और प्रेम से सभी एक दूसरे से बंधे हुए हैं। सभी फैसले का सम्मान करेंगे। शासन-प्रशासन भी सतर्क हैं। किसी अफवाह पर ध्यान नहीं दें।

बीएन गुप्ता, जनसंपर्ककर्मी

शहर का हर वर्ग आपसी सद्भाव बनाए रखने में हमेशा सहयोग करता है। फैसले को स्वीकार करके कोर्ट का सम्मान करें। अफवाहों पर ध्यान नहीं दें।
विवेक नंदवाना, एडवोकेट

Ayodhya verdict
Show More
​Zuber Khan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned