बर्ड फ्लू का कहर: एक ही दिन में मिले 123 मृत पक्षी

कोटा. कोरोना महामारी के बीच हाड़ौती में बर्ड फ्लू की दस्तक हो चुकी है। इस बीमारी से बेजुबान पक्षियों के मरने का सिलसिला जारी है। बुधवार को 123 मृत पक्षी पाए गए। कोटा में 37, झालावाड़ में 36 व बारां में 50 पक्षी मृत मिले।

By: Deepak Sharma

Published: 06 Jan 2021, 07:36 PM IST

कोटा. कोरोना महामारी के बीच हाड़ौती में बर्ड फ्लू की दस्तक हो चुकी है। इस बीमारी से बेजुबान पक्षियों के मरने का सिलसिला जारी है। बुधवार को 123 मृत पक्षी पाए गए। कोटा में 37, झालावाड़ में 36 व बारां में 50 पक्षी मृत मिले। कोटा के नोडल अधिकारी व पॉलिक्लीनिक के प्रभारी डॉ. गणेश नारायण दाधीच ने बताया कि बुधवार को कोटा जिले में रामगंजमंडी व सुकेत में 19 कोओं, इटावा, पीपल्दा, मंडाना, भीतरियाकुंड, साबरमती कॉलोनी में 17 पक्षी मृत पाए गए। भीतरिया कुंड इलाका आबादी क्षेत्र है। यहां पार्क में लोग मॉर्निंग वॉक करने आते हैं।

सुबह स्थानीय लोग ने 2 कौओं व 1 कबूतर मृत पक्षियों को देखा। एक पक्षी का शव पानी में था। जबकि दो पक्षी पार्क में मृत मिले। सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। मृत पक्षियों के शवों को निस्तारण के लिए अपने साथ ले गई। वहीं, बसंत विहार स्थित भूतेश्वर पार्क में दो पक्षी मृत मिले। पार्षद पीडी गुप्ता ने बताया कि स्थानीय लोगों की सूचना पर वन विभाग व पशुपालन विभाग की टीमों को सूचित किया।

टीम के कार्मिकों ने मौके पर मृत पक्षियों को कब्जे में लिया। उसके बाद पूरे पार्क को सेनेटाइज करवाया गया। भूतेश्वर पार्क में मंगलवार सुबह भी 3 बगुले मृत मिले थे। कोटा जिले में अबतक 155 पक्षियों की मौत हो चुकी है। पशुपालन विभाग ने 8 कौओं के नमूने भोपाल स्थित प्रयोगशाला में भेजे गए थे। इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

बारां जिले में बुधवार को 37 कौओं समेत 50 पक्षियों की मौत हो गई। जिले में पशुपालन विभाग ने 169 कौओं व 10 अन्य पक्षियों की मौत की पुष्टि की है। बगुले, गिद्ध, बाज व कबूतर की मौत ने बर्ड फ्लू का संक्रमण के और फैलने की संभावना बढ़ा दी है।

झालावाड़ में बर्डफ्लू से बुधवार को 36 पक्षियों की मौत हुई। पशुपालन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक कुल पक्षियों की मौत का आंकड़ा अब 229 पर पहुंच गया है। मृत पक्षियों में 26 कौए, 4 बगुले, 1 स्पेरो चिड़ीया, 3 कबूतरों समेत 2 मौरों की मौत हुई। उधर मंगलवार को हुई मोरों की मौत के मामले में पोस्टमार्टम किया गया, लेकिन इसकी रिपोर्ट शाम तक नहीं मिल सकी।

मंत्री ने ली वीसी
बर्डफ्लू बढऩे की आशंका के मद्देनजर पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के पशुपालन विभाग के अधिकारियों से बात की। उन्होंने बर्डफ्लू 2015 के प्रोटोकॉल की पालना करने के निर्देश दिए। साथ ही पोल्ट्री फार्म में मुर्गियों की स्थिति पर विशेष नजर बनाए रखने के निर्देश दिए।

Deepak Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned