राजावत ने टापू बने गांवों में नाव से जाकर देखे हाल

राजावत ने टापू बने गांवों में नाव से जाकर देखे हाल
राजावत ने टापू बने गांवों में नाव से जाकर देखे हाल

Rajesh Tripathi | Updated: 16 Sep 2019, 02:45:14 AM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

सर्कार पर बरसे, लोगों को कांग्रेस से कोई उम्मीद नहीं रह गई

कोटा. पूर्व विधायक भवानीसिंह राजावत ने रविवार को नगर निगम सीमा के समीप बाढ़ के पानी से पिछले तीन दिन से टापू बने मानस गांव, रामराजपुरा, पीपल्दा शेखान सहित एक दर्जन गांवों में नाव से जाकर हाल देखे। राजावत ने पीएम नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि हाड़ौती में अरबों रुपए की सोयाबीन, धान, मूंग, और मक्का की फसल तबाह हो गई। हाड़ौती में पिछले एक महीने से सर्वाधिक वर्षा और बाढ़ रही है। ऐसे में यहां के किसानों को सम्बल देने के लिए केन्द्र सरकार आपदा राहत कोष से विशेष पैकेज दे। लोगों को कांग्रेस से कोई म्मीद नहीं रह गई है।

Alert : 24 घंटे में चम्बल में बढ़ेगा जलस्तर, पुलिस अधीक्षक ने संभाली कमान, आधा अमला बचाव कार्य में जुटा

लाडपुरा क्षेत्र के इन गांवों में जल प्लावन के ऐसे हालात खड़े हो गए कि लोग 3 दिन से घरों में बंद हैं। एक दर्जन गांवों में बिजली नहीं आ रही, मोटरें नहीं चलने से पीने का पानी नहीं मिल रहा, लेकिन प्रशासन अभी तक नहीं पहुंचा है। इस दौरन कोटा थोक फल सब्जीमण्डी के अध्यक्ष ओम मालव, कुलदीप सिंह तलवार, मण्डल महामंत्री नेमीचन्द नागर, प्रताप सिंह चौहान, किसान मोर्चा के हुसैन देशवाल आदि शामिल थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned