चम्बल में दौड़ रही खतरे की नावों की शुरू हुई जांच

कोटा जिला मजिस्ट्रेट ने दिए जांच के आदेश। एसडीएम और तहसीलदार जांच करके तीन दिन में रिपोर्ट जिला मजिस्ट्रेट को सौंपेंगे।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 18 Sep 2020, 08:46 AM IST

कोटा. कोटा जिले के इटावा उपखंड के गोठड़ा गांव के पास चम्बल नदी में नाव डूबने के बाद जिला कलक्टर और जिला मजिस्ट्रेट ने पूरे जिले में नावों के सुरक्षा मापदंडों की जांच के आदेश जारी किए हैं। जिला मजिस्ट्रेट उज्जवल राठौड़ ने सभी 6 उपखण्ड अधिकारियों और तहसीलदारों को अपने-अपने क्षेत्र में नदियों और नहरों में संचालित नावों का निरीक्षण कर उनकी हालत एवं सुरक्षा मापदण्डों की जांच करने के आदेश दिए। अधिकारी निरीक्षण रिपोर्ट तीन दिन में प्रस्तुत करेंगे।
जिला मजिस्ट्रेट ने आदेश जारी कर कहा कि नावों का निरीक्षण कर यह सुनिश्चित किया जाए कि जिन नावों के संचालन में सुरक्षा मापदण्डों का पालन नहीं किया जा रहा, उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही करते हुए ऐसी नावों को जब्त किया जाए। अनफिट नावों को नष्ट भी किया जा सकता है।

चम्बल नाव हादसा: जीवन संकट में डालने के आरोप में पांच गिरफ्तार
उन्होंने संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि भविष्य में भी समय-समय पर सुरक्षा मापदण्डों की जांच की जाकर रिपोर्ट जिला कलक्टर कार्यालय को प्रस्तुत की जाए।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned