scriptcase of kota wholesale fruit vegetable market | लहसुन के नीलामी यार्डों में व्यापारियों का कब्जा | Patrika News

लहसुन के नीलामी यार्डों में व्यापारियों का कब्जा

मंडियों में नीलामी यार्ड किसानों की जिंसों की नीलामी के लिए होता है, लेकिन नीलामी यार्ड में लगे टीनशेडों पर व्यापारियों के कब्जे के चलते किसानों को परेशानी उठानी पड़ती है। ऐसा ही मामला सामने आया है थोक फल सब्जीमंडी का।

कोटा

Published: November 29, 2021 09:17:03 pm

कोटा. मंडियों में नीलामी यार्ड किसानों की जिंसों की नीलामी के लिए होता है, लेकिन नीलामी यार्ड में लगे टीनशेडों पर व्यापारियों के कब्जे के चलते किसानों को परेशानी उठानी पड़ती है। ऐसा ही मामला सामने आया है थोक फल सब्जीमंडी का। थोक फल सब्जीमंडी में लहसुन की नीलामी के लिए टीनशेडशुदा दो यार्ड हैं, लेकिन इनमें भी अन्य सब्जी व्यापारियों के कब्जे के चलते लहसुन की नीलामी में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
नीलामी यार्ड में लगे टीनशेडों पर व्यापारियों के कब्जे के चलते किसानों को उठानी पड़ रही परेशानी
लहसुन के नीलामी यार्डों में व्यापारियों का कब्जा
यह भी पढ़ें
कोटा मंडी 28 नवम्बर 2021: सोयाबीन, सरसों, चना व धनिया मंदा, गेहूं में तेजी रही

आदर्श कोटा थोक फ्रू ट वेजिटेबल मर्चेंट यूनियन अध्यक्ष निरंजन मंडावत ने बताया कि मंडी में दोनों यार्ड लहसुन की नीलामी के लिए है। यार्ड नं. 1 पर पिछले कई सालों से प्याज व टमाटर विक्रेताओं ने कब्जा जमा रखा है। लम्बे चौड़े यार्ड में व्यापारियों द्वारा खरीदे प्याज की बोरियों के ढेर लगे हैं। साथ ही टमाटर व्यापारियों के खाली कैरेट जमा करने से पूरे यार्ड पर कब्जा हो रहा है। लहसुन की नीलामी के लिए यार्ड 2 ही बचा है। इसमें भी प्याज व लहसुन व्यापारियों ने कब्जा जमा रखा है।
इन दिनों लहसुन की आवक ज्यादा होने और यार्ड में कब्जे के चलते जगह कम होने से पिछले शनिवार व रविवार को लहसुन की नीलामी बंद रखनी पड़ी थी। यार्डों में व्यापारियों के कब्जे को हटाने के लिए मंडी प्रशासन को कई बार अवगत कराया, लेकिन ध्यान नहीं दिया जा रहा।
-ब्याज व्यापारियों की तीन दिन पहले ही बैठक लेकर उन्हें चेतावनी थी की प्याज को सडऩे से पहले ही इसका उठाव करवा लेवें। सोमवार को भी माइक से घोषणा करवाई गई थी की नीलामी यार्ड में प्याज व खाली कैरेट को हटवा लेवें। अगर मंगलवार तक व्यापारी यार्ड को खीली नहीं करेंगे तो मंडी समिति की ओर से यार्ड को खाली करवाया जाएगा।
-डॉ. हेमलता मीणा, सचिव, कृषि उपज मंडी समिति (फल सब्जी) कोटा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पीएम मोदी आज ब्रह्मकुमारियों के 'आजादी का अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर' अभियान श्रृंखला का शुभारम्भ करेंगेओमिक्रोन वायरस के इलाज में कौन सी दवा है सही, जानिए WHO की गाइडलाइनIND vs SA: साउथ अफ्रीका ने 31 रनों से जीता पहला वनडे, ये है भारत की हार का सबसे बड़ा कारण‘बुल्ली बाई’ ऐप के बाद अब ‘क्लब हाउस’ चैट में मुस्लिम महिलाओं को बनाया निशाना, महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस को भेजा नोटिसटोक्यो पैरालंपिक में Gold Medal लाने वाली अवनी लेखारा तक पहुंची खास XUV700, आनंद महिंद्रा ने कहा 'Thank You'यूपी पीसीएस मेंस परीक्षा टली, अब क्या यूपीटीईटी परीक्षा टलेगी?दो बाइकों की आमने-सामने भिड़ंत में दो युवकों की मौके पर मौत, खून से लथपथ शव देखकर राहगीरों ने दी पुलिस को सूचनाआयकर दायरा बढ़े, जीएसटी घटाएं-मेहता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.