सीबीएसई ने जारी किया नया परीक्षा पैटर्न

कोटा. सीबीएसई नई दिल्ली ने आगामी शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए नया परीक्षा पैटर्न जारी कर दिया है। इस संबंध में एक नोटिफि केशन सीबीएसई की ऑफि शियल वेबसाइट पर जारी किया गया। नोटिफि केशन के अनुसार, एग्जामिनेशन पेपर पैटर्न नेशनल एजुकेशन पॉलिसी एनबीई 2020 के सिद्धांतों के अनुरूप ही तैयार किया गया है।

By: Deepak Sharma

Published: 23 Apr 2021, 12:35 AM IST

कोटा. सीबीएसई नई दिल्ली ने आगामी शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए नया परीक्षा पैटर्न जारी कर दिया है। इस संबंध में एक नोटिफि केशन सीबीएसई की ऑफि शियल वेबसाइट पर जारी किया गया। नोटिफि केशन के अनुसार, एग्जामिनेशन पेपर पैटर्न नेशनल एजुकेशन पॉलिसी एनबीई 2020 के सिद्धांतों के अनुरूप ही तैयार किया गया है। एनबीई के रोड मैप के अनुसार, शिफ्ट फ्र ॉम रोट टू कोंपीटेंसी बेस्ड लर्निंग को आधार बनाया गया है। इसका तात्पर्य है कि विद्यार्थी सिर्फ कुछ सूचनाओं एवं जानकारियों को रटकर उसी पर आधारित चिर परिचित सवालों का परीक्षा प्रश्न पत्र में सामना करें। नोटिफि केशन में परीक्षा पैटर्न में दसवीं बोर्ड में कोंपीटेंसी बेस्ड प्रश्नों की संख्या 30 प्रतिशत व 12वीं बोर्ड में 20 प्रतिशत कर दी गई है। दोनों ही बोर्ड में 20 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप पूछे जाएंगे। दसवीं बोर्ड में अब सिर्फ 50 प्रतिशत प्रश्न लॉन्ग आंसर तथा शॉर्ट आंसर होंगे, जबकि 12वीं बोर्ड में 60 प्रतिशत प्रश्न लॉन्ग आंसर एवं शॉर्ट आंसर होंगे।

एक्सपर्ट देव शर्मा ने बताया कि नोटिफि केशन में यह स्पष्ट कर दिया है कि नए परीक्षा पैटर्न का उद्देश्य विद्यार्थियों के थॉट प्रोसेस व लॉजिकल थिंकिंग को इम्प्प्रुव करना है। एनबीई का मुख्य उद्देश्य है कि स्कूली विद्यार्थी 21वीं सदी की नई चुनौतियों के लिए तैयार हों, विद्यार्थियों में यह क्षमता विकसित हो कि विपरीत परिस्थितियों में भी अपरिचित प्रश्नों को हल कर सकें।

Show More
Deepak Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned