शत प्रतिशत एफडीआई नीति पर करें पुनर्विचार

शत प्रतिशत एफडीआई नीति पर करें पुनर्विचार

Shailendra Tiwari | Publish: Jul, 09 2016 11:30:00 PM (IST) Kota, Rajasthan, India

कोटा. हाड़ौती किसान यूनियन ने केंद्र सरकार से रक्षा, खाद्य, बीमा, बैंकिग, दूरसंचार आदि क्षेत्रों में शत प्रतिशत एफडीआई की नीति लागू करने पर पुनर्विचार की मांग की है।

कोटा.  हाड़ौती किसान यूनियन ने केंद्र सरकार से रक्षा, खाद्य, बीमा, बैंकिग, दूरसंचार आदि क्षेत्रों में शत प्रतिशत एफडीआई की नीति लागू करने पर पुनर्विचार की मांग की है।


यूनियन के पदाधिकारियों ने बताया कि एक बार केंद्र सरकार को इन क्षेत्रों शत प्रतिशत एफडीआई करने से पहले वर्षाकालीन सत्र में विभिन्न राजनीतिक व सामाजिक संगठनों से वार्ता करनी चाहिए। 


यूनियन के महामंत्री दशरथ कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार के इस फैसले का संघ, भारतीय मजदूर संघ,  भारतीय किसान संघ विरोध कर चुके हैं। 


ऐसे में सरकार को चाहिए कि वह स्वदेशी पर ज्यादा ध्यान दे। प्रवक्ता श्याम मनोहर हरित ने कहा कि विदेशी कम्पनियां अपने लाभ के लिए देश में पूंजी निवेश करेंगी तो सामाजिक हित की कैसे रक्षा हो पाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned