गाजीपुर अफीम फैक्ट्री के तत्कालीन महाप्रबंधक के खिलाफ चालान पेश

कोटा एसीबी ने रिश्वत के आरोपी शशांक यादव के पास से बरामद किए थे 16.32 लाख रुपए

 

By: shailendra tiwari

Published: 13 Sep 2021, 08:23 PM IST

कोटा. किसानों से अफीम के पटटे जारी करने व अफीम की क्वालिटी अच्छी बताने की एवज में रिश्वत के रूप में मोटी रकम वसूलने के मामले में उत्तर प्रदेश की गाजीपुर अफीम फैक्ट्री के तत्कालीन महाप्रबंधक शशांक यादव (आईआरएस) के खिलाफ एसीबी स्पेशल यूनिट कोटा के एएसपी धर्मवीर सिंह ने न्यायालय में चालान पेश कर दिया। इस मामले में अब अगली पेशी 15 सितम्बर को है।

यह था मामला

आरोपी शशांक यादव से 17 जुलाई को सुबह हैंगिंग ब्रिज टोल नाके के पास से भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो कोटा की टीम ने मिठाई के डिब्बे में रखे 15 लाख रुपए बरामद किए थे। वहीं लैपटॉप के बैग व पर्स से 1 लाख 32 हजार 410 रुपए मिले। शशांक के पास कुल 16 लाख 32 हजार 410 रुपए मिले। संतोषजनक जवाब नहीं देने पर एसीबी टीम ने आरोपी शशांक यादव को पकड़ कर राशि को जब्त कर लिया था।

Read More : 'मिठाई' का शौकीन महाप्रबंधक: डिब्बे में मिली 16 लाख की 'मिठाई'

यह मिली थी शिकायत

शशांक यादव के खिलाफ शिकायत मिली थी कि अफीम फैक्ट्री नीमच में लाइसेंसी काश्तकारों की अफीम भेजी जाती है। इससे पहले यहां अफीम सैम्पलों की जांच का काम हो रहा था। अफीम में गाढ़ता व मारफीन प्रतिशत के हिसाब से ही नारकोटिक्स विभाग काश्तकारों को पट्टे जारी करता है। ऐसे में वह प्रति किसान 60 से 80 हजार रुपए रिश्वत ले रहे थे। जिसके बाद ही उन्हें आगे के लिए पट्टे जारी होते हैं।

शशांक यादव के पास नीमच अफीम फैक्ट्री का अतिरिक्त चार्ज है। आरोप है कि शशांक और नीमच में कार्यरत अन्य कर्मचारी अजीत सिंह, दीपक यादव और दलालों के माध्यम से 60 से 80 हजार रुपए प्रति किसान वसूले जा रहे हैं। रकम नहीं देने पर अफीम को घटिया करार दिया जाता है। अफीम लैब के अजीत सिंह व कोडिंग टीम के दीपक कुमार यादव ने दलालों के जरिए 6 हजार से ज्यादा किसानों से 10.12 आरी के पट्टे दिलवाने के नाम पर 30 से 36 करोड़ रुपए एडवांस वसूल कर लिए। इस मामले में एसीबी ने न्यायालय में चालान पेश किया।

Show More
shailendra tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned