चम्बल नाव हादसा: जीवन संकट में डालने के आरोप में पांच गिरफ्तार

जिले के प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया और नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल आज मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लेंगे।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 18 Sep 2020, 08:15 AM IST

कोटा. जिले के खातौली थाना क्षेत्र में गोठड़ा गांव के पास चम्बल में नाव डूबने के बाद हुई 13 मौतों पर कोटा से जयपुर तक हड़कंप मचा हुआ है। जिला प्रशासन और परिवहन विभाग की ओर से जिले में नावों की स्थिति की जांच की जा रही है। वहीं ग्रामीण पुलिस ने नाव में क्षमता से ज्यादा लोग बिठाकर जीवन संकट में डालने के आरोप में पांच जनों को गिरफ्तार किया है। ग्रामीण जिला पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी ने बताया कि नाव डूबने के हादसे के बाद खातौली थाने में एफआईआर दर्ज की गई थी। इसके बाद आरोपियों की तलाश शुरू की तो उनके जंगल में छुपे होने की जानकारी मिली। इस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पारस जैन, इटावा वृत्ताधिकारी शुभकरण और थानाधिकारी नारायण सिंह ने टीम के साथ उनकी तलाश की। इसमें आरोपी महेन्द्र मीणा (38), शेरगढ़ निवासी हेमराज (45), रामकुवार केवट (62), अमरलाल (60) और गोठड़ा कला निवासी विनोद कुमार (20) को गिफ्तार किया है।

चम्बल में मचा हाहाकार, हिल गया हाड़ौती

इससे पहले परिवहन विभाग की लापरवाही मानते हुए यातायात निरीक्षक राघव शर्मा को एपीओ किया गया था। वहीं थानाधिकारी रामावतार शर्मा को लाइन हाजिर किया गया है। इसके अलावा अवैध रूप से नाव संचालन की सूचना नहीं देने पर पटवारी बनवारीलाल बैरवा और ग्राम विकास अधिकारी जोधराज गुर्जर को भी एपीओ कर दिया गया है। जिले के प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया और नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल आज मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लेंगे।

Congress
Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned