चम्बल नदी में नाव डूबने से मचा हाहाकार

नाव में सवार लोगों में से किसी ने भी सुरक्षा जैकेट नहीं पहनी हुई थी। नाव में लोगों के अलावा ग्रामीणों की मोटरसाइकिलें भी रखी हुई थी।

By: Jaggo Singh Dhaker

Updated: 16 Sep 2020, 12:07 PM IST

कोटा. चम्बल नदी में नाव डूबने हुई मौतों के बाद कोटा जिले के गोठड़ा गांव में बुधवार को हाहाकार मच गया। कोटा जिले की सीमा के आखिरी क्षेत्र खातौली क्षेत्र के गोठड़ा गांव में बुधवार सुबह एक नाव चम्बल नदी में डूब गई। इस नाव में करीब 40 लोग सवार थे। इसमें कई लोगों की डूबने से मौत हुए गई। सुबह 11 बजे तक 3 लोगों की लाशें निकाली जा चुकी थी। मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने करीब 25 लोगों के डूबने की आशंका जताई है। इनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं।
इस नाव में सवार लोगों में से किसी ने भी सुरक्षा जैकेट नहीं पहनी हुई थी। नाव में लोगों के अलावा ग्रामीणों की मोटरसाइकिलें भी रखी हुई थी। नाव में क्षमता से ज्यादा वजन और नाव अनफिट होने के कारण नदी में डूबने की बात सामने आई है। नाव डूबने की सूचना पर बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और अपने स्तर पर बचाव व राहत कार्य में जुटे रहे। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। हादसे की सूचना मिलने पर कोटा से भी बचाव और राहत दल रवाना हो गए। जिला कलक्टर और एसपी ने हादसे की जानकारी ली और आला अधिकारी मौके के लिए रवाना हो गए हैं।
लोग गोठड़ा गांव से चम्बल नदी पार कर रहे थे। अचानक नाव असन्तुलित हो गई और पानी भरने लग गया। नाव को डूबता देखकर इसमें सवार लोग चम्बल नदी में कूद गए थे, इसके बाद नाव भी पानी में डूब गई है। जो लोग तैरना जानते थे, वह तैरकर नदी से बाहर आ गए हैं। अभी तक यह पता नहीं चला कि कितने लोग नदी में डूबे हुए हैं।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned