सीएम की आशंका, काम नहीं होने से ग्रामीण हो जाएंगे आक्रोशित

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्व विभाग के पटवारी, गिरदावर एवं तहसील सेवा के अधिकारियों से अपील की है कि वे प्रशासन गांवों के संग एवं प्रशासन शहरों के संग अभियान के दृष्टिगत कार्य बहिष्कार को समाप्त कर काम पर लौटें। कार्य बहिष्कार लोगों की राहत में बाधा बना हुआ है।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 04 Oct 2021, 11:08 AM IST

कोटा. प्रशासन शहरों के संग और प्रशासन गांवों के संग अभियान में पटवारी, गिरदावर एवं तहसील सेवा के अधिकारियों का कार्य बहिष्कार लोगों की राहत में बाधा बन गया है। शिविरों में आने वाले लोगों के कई कार्य अटक गए हैं। कोटा नगर विकास न्यास की ओर से शिविर के पहले दिन पांच पट्टे देने का लक्ष्य था, लेकिन करीब 1600 पट्टे ही दे पाए। उधर, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्व विभाग के पटवारी, गिरदावर एवं तहसील सेवा के अधिकारियों से अपील की है कि वे प्रशासन गांवों के संग एवं प्रशासन शहरों के संग अभियान के दृष्टिगत कार्य बहिष्कार को समाप्त कर काम पर लौटें। गहलोत ने कहा है कि राजस्व संबंधी कार्यों में पटवारी, गिरदावर एवं तहसील सेवा के अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका है, ऐसे में अभियान के दौरान काम नहीं होने ग्रामवासियों में आक्रोश पैदा हो सकता है। इसे ध्यान में रखते हुए संवेदनशील होकर सभी राजस्व कार्मिकों को राज्य सरकार के इस महत्वपूर्ण अभियान में अपने उत्तरदायित्व का निर्वहन करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा है कि गांधी जयंती २ अक्टूबर, २०२१ से राज्य के २९ जिलों में प्रारम्भ हुए प्रशासन गांवों के संग अभियान में ग्रामीणजन काफी उत्साह से विभिन्न विभागों से संबंधी अपने कार्यों के लिए आ रहे हैं। ऐसे में हम सबका उत्तरदायित्व है कि इस मौके पर पूरे मनोयोग से जनता के कार्य करें। राजस्व विभाग से संबंधी बहुत से कार्य इन शिविरों में होने हैं, किन्तु अपनी मांगों को लेकर राजस्व विभाग के पटवारी, गिरदावर और तहसील सेवा के अधिकारी शिविर में उपस्थित नहीं हो रहे हैं। इसके चलते राजस्व विभाग से संबंधित प्रकरणों का निस्तारण बाधित हो रहा है, जबकि अन्य विभागों द्वारा कार्यों का अच्छी तरह निष्पादन किया जा रहा है।
गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से दो माह पूर्व ही राजस्व कार्मिकों से हुए समझौते के तहत अधिकांश मांगें पूर्ण हुई हैं, शेष मांगों पर भी सहानुभूतिपूर्वक विचार कर सकारात्मक निर्णय लिया जाना प्रक्रियाधीन है।

Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned