Thrill Story: फिर सुसाइड से दहली कोचिंग नगरी, एक और छात्रा फांसी के फंदे पर झूली

Thrill Story: फिर सुसाइड से दहली कोचिंग नगरी, एक और छात्रा फांसी के फंदे पर झूली

Zuber Khan | Publish: Jan, 13 2018 08:08:41 PM (IST) | Updated: Jan, 13 2018 08:53:27 PM (IST) Kota, Rajasthan, India

कोचिंग विद्यार्थियों की खुदकुशी का दौर एक बार फिर से चल पड़ा है। शनिवार को भी एक और छात्रा ने होस्टल में ही फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली।

कोटा . कोचिंग विद्यार्थियों की खुदकुशी का दौर एक बार फिर से चल पड़ा है। शनिवार को भी एक और छात्रा ने होस्टल में ही फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। इस माह 13 दिन में खुदकुशी का यह तीसरा मामला है। जिनमें से दो छात्राए हैं। तीनों मामले जवाहर नगर थाना क्षेत्र के ही हैं।

 

थानाधिकारी नीरज गुप्ता ने बताया कि दिन में करीब 1.30 बजे सूचना मिली कि जवाहर नगर स्थित महालक्ष्मी रेजीडेंसी में एक छात्रा ने फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली है। इस सूचना पर वे और पुलिस टीम मौके पर पहुंची। इससे पहले ही होस्टल की वार्डन व छात्राओं ने कमरे की कुंडी तोड़कर दरवाजा खोल दिया था। पुलिस ने पंखे से छात्रा का शव नीचे उतारा। छात्रा छत्तीसगढ़ के धमतरी जिला स्थित नगरी निवासी निहारिका रानी देंगन(20) पुत्री नरेन्द्र कुमार है।

 

Read More: मकर संक्रांति 2018: किस राशि को फल और किस राशि को मिलेगा कष्ट...जानिए खास रिपोर्ट में

वह यहां रहकर मेडिकल प्रवेश परीक्षा क तैयारी कर रही थी। पुलिस ने कमरे की तलाशी ली गई लेकिन फिलहाल वहां से कोई सुसाइडल नोट नहीं मिला है। शव को एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है। छात्रा के परिजनों को सूचना कर दी है। उनके आने पर ही पोस्ट मार्टम होगा। खुदकुशी का असली कारण भी उनके आने पर ही पता चल सकेगा।

 

Read More: Makar sankranti : छतों पर डटेगी पतंगबाजों की फौज, अंगुलियों के इशारे पर आसमान में होगी जंग

11 बजे वार्डन ने किया था चैक
पुलिस ने बताया कि पूछताछ करने पर वार्डन का कहना था कि उन्होंने 11 बजे छात्रा को कमरे में चैक किया था। इसके बाद 1.30 बजे उसके सहेलियों ने करे का दरवाजा खटकाया तो अंदर से नहीं खोला। इसके बाद छात्राओं ने वार्डन को सूचना दी। उन्होंने कुंडी तोड़कर दरवाजा खोला।

 

Read More: Human Angle Story: Video: बेटे को देख मां की अंतरात्मा का दर्द छलका, बोली तु असी करगो या तो कदी सोची भी न छी

कक्षा में कम जाती थी छात्रा
सीआई नीरज गुप्ता ने बताया कि पूछताछ करने पर पता चला कि निहारिका तीन साल से कोटा में रहकर पढ़ाई कर रही है। दो साल तक कुन्हाड़ी स्थित लैंड मार्क सिटी में रह रही थी। एक साल से यहां जवाहर नगर में रहने लगी थी। जानकारी में आया कि वह पढ़ाई में कुछ कमजोर थी। इस कारण से वह कुछ समय से कोचिंग की क्लासेज में भी कम ही जा रही थी।

 

Read More: Thrill Story : 3 का काल बनकर आया हाड़ौती बंद का दिन, 2 आखरी बार चले पैदल, 1 की लाश कुएं में तैरती मिली

खुदकुशी का तीसरा मामला

गौरतलब है कि विद्यार्थियों की खुदकुशी करने का इस साल का 13 दिन में यह तीसरा मामला है। इससे पहले बिहार निवासी अनुराग भारती(16) तलवंडी स्थित होस्टल से 28 दिसम्बर को लापता हुआ था। जिसका शव 4 जनवरी को आरकेपुरम् थाना क्षेत्र स्थित भंवरकुंज के पास चम्बल नदी में मिला था। इसके अगले ही दिन 4 जनवरी को जवाहर नगर थाना क्षेत्र में ही राजीव गांधी नगर स्थित प्रज्ञा रेजीडेंसी में भी हरियाणा निवासी छात्रा नीरज कुमारी(17) ने फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली थी। दोनों का मामला शांत हुआ भी नहीं था कि इससे पहले ही एक और मामला हो गया। जबकि गत वर्ष 2017 में खुदकुशी के मामलों में कमी आई थी। अन्य वर्षों की तुलना में यह 2017 में घटकर मात्र 8 ही रह गई थी।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned