कोरोना काल में किसान कैसे अधिक उत्पादन ले सकते हैं, विशेषज्ञों ने किया मंथन

कृषि महाविद्यालय में एक दिवसीय ऑनलाइन वेबीनार

By: Ranjeet singh solanki

Published: 24 Jul 2020, 06:57 PM IST

कोटा.कृषि महाविद्यालय, उम्मेदगंज की ओर से कोविड-19 महामारी के दौरान किसानों के हित में कृषि प्रसार एवं सलाहकार सेवाएं विषय पर एक दिवसीय वेबीनार का आयोजन किया गया। कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. एम.सी. जैन ने कहा कि इस वेबीनार का उद्देश्य कृषि विस्तार सलाहकार सेवाओं से किसानों को नवीनतम और व्यावहारिक कृषि उत्पादन तकनीकियों की जानकारी उपलब्ध करवाना था। तकनीकी विस्तार से कृषकों के व्यावहारिक ज्ञान में वृद्धि करके इस महामारी के दौरान फ सल उत्पादन में बढ़ोतरी की जा सकती है। मुख्य वक्ता संस्थान पटना के अधिष्ठाता डॉ. नीरज कुमार ने महामारी के दौरान सलाहकार सेवाओं, कृषि व्यवसाय, विपणन, आजीविका और समन्वय की भूमिका पर अपना प्रकाश डाला। कृषि विश्वविद्यालय की निदेशक (योजना, निगरानी एवं मुल्यांकन विभाग) डॉ. ममता तिवारी ने कृषि आधारित उद्यमिता एवं स्टार्टअप उद्यमिता पर बल देते हुए कृषि विस्तार एवं इसकी भूमिका पर अपना प्रस्तुतीकरण दिया। डॉ. बी.एल. ढ़ाका, आयोजन सचिव एवं प्रभारी कृषि विस्तार एवं संचार विभाग ने बताया कि इस वेबीनार में देश के विभिन्न प्रान्तों से 450 से भी अधिक प्रतिभागियों ने पंजीयन करवाया। इस वेबीनार में 5 नाइजीरिया, 3 नेपाल एवं 2 प्रतिभागी बांग्लादेश से थे। सहायक आचार्य डॉ. कीर्ति ने प्रतिभागियों का आभार जताया। उधर कृषि महाविद्यालय के नव निर्मित छात्रावास में कुलपति व अन्य अधिकारियों ने पौधारोपण किया।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned