जिम्मेदारियों से भाग रहे सीएमएचओ, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

Anil Sharma

Publish: Sep, 16 2017 06:28:54 (IST) | Updated: Sep, 16 2017 06:57:20 (IST)

Kota, Rajasthan, India
जिम्मेदारियों से भाग रहे सीएमएचओ, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

कोटा. शहर में डेंगू और स्वाइन फ्लू से हो रही मौतों को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को सीएमएचओ कार्यालय पर प्रदर्शन किया। 

कोटा. शहर में डेंगू और स्वाइन फ्लू से हो रही मौतों को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को सीएमएचओ कार्यालय पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन से एक दिन पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सीएमएचओ से बातचीत का समय लिया था, लेकिन फिर वे नहीं मिले।

समय देने के बावजूद नहीं मिलने पर कांग्रेसियों ने आक्रोश जताया। यहां कांग्रेस के प्रदेश सचिव शिवकांत नंदवाना और लाडपुरा ब्लॉक अध्यक्ष देवेश तिवारी की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। 

नंदवाना ने कहा, सीएमएचओ अपनी जिम्मेदारियों से भाग रहे हैं। यदि समय रहते जिम्मेदारी निभाई होती तो शहर को अकाल मौतें नहीं झेलनी पड़ती।

तिवारी ने कहा, सीएमएचओ ने पूर्व में ही कार्यकर्ताओं को समय दे दिया था, लेकिन वे मिलने के बजाय पीठ दिखाकर भाग गए। इस प्रकार भागने के कारण ही डेंगू और स्वाइन फ्लू महामारी का रूप ले चुके हैं। कई घरों के चिराग बुझ गए, लेकिन चिकित्सा विभाग गूंगा-बहरा बना हुआ है।

Read More: पत्रिका इम्पेक्टः- खबर का हुआ असर, सुरक्षा से जुड़े खाली पदों पर रेलवे ने शुरू की भर्ती 

उन्होंने कहा कि यदि विभिन्न बस्तियों में समय रहते दवा का छिडक़ाव किया होता और डेंगू की दस्तक पर ही सर्वे कराया होता तो शहर को डर के साये में नहीं जीना पड़ता। शहर में चिकित्सा सुविधाएं दुरुस्त होने तक कोई भी कांग्रेस कार्यकर्ता चुप नहीं बैठने वाला है। इस दौरान नरेन्द्र नागर, नरेन्द्र खींची, दीपक बंशीवाल, दिव्यांश चौधरी, मनीष खींची, संजय बसवाल, भूपेन्द्र चौधरी, संजय पाटौदी, सुनील वर्मा सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Read More: अब ग्वालियर में होगा चम्बल के पानी का बंटवारा  

 

नवरात्र में कांग्रेस का नौ दिन प्रदर्शन
कोटा . कांग्रेस नवरात्रि के 9 दिन में शहर व जिले से लेकर प्रदेश स्तर तक के 9 मुद्दों पर विरोध-प्रदर्शन करेगी। यह जानकारी शुक्रवार को पूर्व मंत्री भरत सिंह ने पत्रकार वार्ता में दी। सिंह ने बताया कि आंदोलन में प्रमुख मुद्दा समर्थन मूल्य पर अब तक खरीद शुरू नहीं होना है। सबसे पहले 22 सितंबर को कलक्ट्रेटपर प्रदर्शन होगा। इसके बाद एनएचएआई, नगर निगम, यूआईटी, रीको, रोजगार कार्यालय व जिला परिषद पर विरोध जताया जाएगा।

Read More: निजी स्कूलों ने बच्चों से छीना शिक्षा का अधिकार, दाखिला देकर स्कूल से निकाला  

 

पूर्व मंत्री ने कहा कि पीएम किसान की आय दोगुनी करने की बात कर रहे हैं, जबकि फसलों का समर्थन मूल्य ही कम कर दिया गया है। इस दौरान कोटा देहात अध्यक्ष सरोज मीणा, जिला प्रमुख सुरेन्द्र गुर्जर और इकराम खान उपस्थित रहे। विरोध प्रदर्शन में शहर में मवेशियों की समस्या, हैंगिंग ब्रिज व अन्य टूटी सडक़ों पर टोल वसूली, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, रीको में अवैध हॉस्टल्स का संचालन शामिल है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned