कांग्रेस का बयान: जमींदारी प्रथा लाना चाहती है केन्द्र सरकार

कोटा में कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव अजय माकन ने कहा, 28 दिसम्बर से किसानों की आवाज को उठाने के लिए कांग्रेस लड़ाई को और तेज करेगी। किसानों से संवाद करेंगे। कृषि से जुड़े ये तीनों कानून न्यूनतम समर्थन मूल्य और सार्वजनिक वितरण प्रणाली पर हमला है।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 26 Dec 2020, 07:40 PM IST

कोटा. राजस्थान में कांग्रेस की ओर से कृषि विधेयकों के विरोध में आंदोलन किया जाएगा। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और राजस्थान प्रभारी अजय माकन और प्रदेश अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा ने शनिवार को कोटा में यह ऐलान किया।माकन ने कहा, कांग्रेस के स्थापना दिवस 28 दिसम्बर से किसानों की आवाज को उठाने के लिए लड़ाई को और तेज करेगी। किसानों से संवाद करेंगे। कृषि से जुड़े ये तीनों कानून न्यूनतम समर्थन मूल्य और सार्वजनिक वितरण प्रणाली पर हमला है। यह मुनाफाखोरी और जमाखोरी को बढ़ावा देगा। माकन ने कहा, भाजपा अनुबंध खेती का कानून लाकर जमीदारी व्यवस्था दुबारा स्थापित करने की कोशिश कर रही है। कृषि कानूनों को लेकर कांग्रेस जमीन स्तर पर जब तक आंदोलन करेगी तब कि ये तीनों विधेयक वापस नहीं लिए जाते। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट गुट को लेकर कहा, पार्टी एक और सब साथ मिलकर चलेंगे। हाड़ौती से नए मंत्री बनाने के सवाल पर कहा, रिक्त स्थान तो भरे जाएंगे, लेकिन कोई मंत्री नहीं बनेगा तो भी सभी को पूरा महत्व मिलेगा।

इसी माह गठित होगी कार्यकारिणी
माकन ने कहा, इसी माह 31 दिसम्बर के प्रदेश की कार्यकारिणी गठित हो जाएगी और उसके बाद जनवरी से राजनीतिक नियुक्तियां करने की प्रकिया शुरू होगी।

Congress
Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned