राफेल डील पर कांग्रेस आक्रमक, चुनावी मुद्दा बनाया

राफेल डील पर कांग्रेस आक्रमक, चुनावी मुद्दा बनाया

shailendra tiwari | Publish: Sep, 02 2018 02:59:08 PM (IST) Kota, Rajasthan, India

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस जगह-जगह 5 से 15 सितम्बर तक रैली निकालेगी

कोटा। राफेल लडाकू विमान खरीद सौदे को कांग्रेस चुनाव मुद्दा बनाने जा रही है। जनता को इसकी तथ्यात्मक जानकारी देने के लिए देशभर में जगह-जगह 5 से 15 सितम्बर तक रैली निकालेगी और जनता को सरल भाषा में पूरे प्रकरण की जानकारी देगी। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने राफेल मामले को लेकर रविवार को कोटा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर निशाना साधा और कहा कि यह बड़ा रक्षा घोटाला है। गोहिल ने कहा, कांग्रेस पार्टी का आरोप है कि प्रधानमंत्री ने फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमान की खरीद को लेकर जो करार किया है, उसमें घपला हुआ है। पिछले साल जब कांग्रेस ने मामला उठाया था तब रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि हम सब कुछ बताने को तैयार हैं, कोई घोटाला नहीं हुआ है, अब वे कह रही हैं कि दोनों देशों के बीच करार की शर्तों के अनुसार हम जानकारी नहीं दे सकते।

नब्बे बरस की हो गई अपनी फ्रंटियर मेल

गोहिल ने दावा किया कि कांग्रेस के कार्यकाल यानी 2012 में जब डील हो रही थी तब एक राफेल की कीमत करीब 526 करोड़ रुपए आ रही थी, एनडीए सरकार के समय जो डील हुई है उसके अनुसार उसी राफेल की कीमत करीब 1640 करोड़ रुपए दी जा रही है। भारत फ्र ांस से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीद रहा है। उन्होंने कहा, यूपीए के सौदे में विमानों के भारत में एसेंबलिंग में सार्वजनिक कंपनी हिंदुस्तान एयरक्राफ्ट लिमिटेड को शामिल करने की बात थी, भारत में यही एक कंपनी है जो सैन्य विमान बनाती है, लेकिन एनडीए के सौदे में इसे बाहर कर इस काम को एक निजी कंपनी को सौंपने की बात कही गई है। किसी भरोसेमंद सरकारी कंपनी की जगह निजी कंपनी को शामिल करना कैसे उचित हो सकता है। गोहिल कहा, केन्द्र सरकार को इस मामले की जांच के लिए जेपीसी का गठन किया जाना चाहिए। ऐसा नहीं हुआ तो जब कांग्रेस की सरकार बनेगी तो इस मामले की जांच रक्षा मामलों की समिति से कराएंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned