MBS Hospital : वार्डों में सफाई कार्य रहा ठप, सीटी स्कैन जांच के लिए भी करना पड़ा इंतजार

MBS Hospital : वार्डों में सफाई कार्य रहा ठप, सीटी स्कैन जांच के लिए भी करना पड़ा इंतजार
वार्डों में सफाई कार्य रहा ठप, सीटी स्कैन जांच के लिए भी करना पड़ा इंतजार

Shailendra Tiwari | Updated: 14 Jul 2019, 07:42:04 PM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

प्राचार्य व अधीक्षक की दखल के बाद माने संविदाकर्मचारी

कोटा. एमबीएस अस्पताल में ठेके पर लगे संविदा कर्मचारियों का तीसरे दिन रविवार सुबह 9 से 11 बजे तक दो घंटे का कार्य बहिष्कार रहा। ठेका श्रमिकों के कार्य बहिष्कार से पर्ची काउंटर, रसीद काउंटर, जांचों का काम प्रभावित रहा। वार्डों में साफ -सफ ाई का काम ठप रहा।

अस्पताल प्रशासन ने पर्ची काउंटर पर नर्सिंग स्टूडेंट को लगाकर वैकल्पिक इंतजाम किया, व्यवस्था बिगड़ी ही रही। मरीज व तीमारदार इधर-उधर भटकते रहे। यहां तक की गंभीर मरीज को सीटी स्कैन जांच के लिए भी घंटों इंतजार करना पड़ा।

 

Read More : ट्रेन के सामान्य कोच में था अंग्रेजी शराब की बोतलों का जखीरा , लावारिस हाल में मिले 13 बैग

 

जांच काउंटर पर कोई नहीं होने से हस्ताक्षर करवाने में भी पसीना बहाना पड़ा। बाहर से रैफ र होकर आए मरीजों को अस्पताल में ट्रॉली व ट्रॉली ब्वॉय नहीं मिला। मजबूरन एम्बुलेंस कर्मियों को ही ट्रॉली खींचकर मरीजों को भर्ती करवाना पड़ा।

 

Read more : आईआईटी एनआईटी काउंसलिंग : पांचवें राउण्ड तक एनआईटी की 344 सीटें रही खाली

इधर, ठेका कार्मिकों की हड़ताल बढ़ती देख अस्पताल अधीक्षक डॉ. नवीन सक्सेना एमबीएस पहुंचे। अधीक्षक ने संवेदक व ठेकाकार्मिकों को वार्ता के लिए बुलाया। ठेका कार्मिक काटे गए वेतन का भुगतान देने की मांग पर अड़े रहे। उसके बाद प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना से वार्ता हुई। करीब चार घंटे की बैठक के बाद आठ मांगों पर सहमति बनी। संविदा कार्मिक सोमवार से कार्य स्थल पर पहुंचकर कार्य करेंगे।

 

Read More : बंद दुकान से निकल रहा था धुआं, कोचिंग छात्र ने दी अग्निशमन को सूचना, लेकिन तब तक

इन मांगों पर बनी सहमति

- संवेदक तीन दिन में वेतन विसंगति को दूर कर संबंधित कार्मिकों को वेतन देगा।
- ईपीएफ के लिए शिविर लगाए जाएंगे। कार्मिकों के ईएसआई कार्ड बनेंगे।

- काटे गए पीएफ व ईएसआई वेतन की सूची बनाकर कल तक ठेकेदार को सौंपी जाएगी। संविदा ठेकेदार द्वार चार दिन में समस्त कार्मिकों की दो पारी में 100-100 कार्मिकों को बुलाकर नकद भुगतान करेगा।
- श्रम विभाग के अनुसार कार्मिकों को नियमानुसार वेतन दिया जाएगा। इसमें कटौती की जाएगी तो उसका भुगतान संविदा ठेकेदार करेगा।

- चिकित्सालय में सालों से लगे हैं, उनका अनुभव प्रमाण पत्र संवेदक उनके लेटर पेड पीएफ व ईएसआई बिलों को वेरीफाई कराकर देने के बाद जारी किए जाएंगे।
- संविदाकार्मिकों की वेतन स्लिप जारी होगी। वह 15 तारीख तक देनी होगी।

- संविदा पर लगे समस्त कर्मचारी को अगले टेण्डर में श्रेणीबद्ध करके ही अगला टेण्डर जारी किया जाएगा। सफाईकर्मियों को भी पॉइंट वाइज कर लगाया जाएगा।
- वार्डों में जहां संविदा कर्मचारी कार्य कर रहे हैं। उनकी समस्त वार्ड इंचार्ज बैठक करेगा।


दो साल से काटा जा रहा वेतन तीन दिन में देने का आश्वासन दिया है। श्रम विभाग की गाइड लाइन के अनुसार सभी कार्मिकों को वेतन देने का निर्णय हुआ है। संवेदक द्वारा सभी मांगों पर सहमति जताई। सोमवार से सभी कार्मिक कार्यस्थल पर लौटेंगे।

सुनील कुमार, संविदा कार्मिक

अस्पताल प्रशासन से चार घंटे चली बैठक के बाद आठ बिन्दुओं पर निर्णय हो गया है। अस्पताल प्रशासन व संवेदक ने कार्मिकों की मांगे मान ली हैं।

डॉ. नवीन सक्सेना, अधीक्षक, एमबीएस अस्पताल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned